REET: परीक्षा में नकल रोकने के लिए आज राजस्थान के 5 जिलों में इंटरनेट बंद

आरईईटी के लिए निर्धारित उम्मीदवारों की बड़ी संख्या को देखते हुए, राज्य सरकार ने COVID-19 महामारी के बीच सुरक्षा और यात्रा के लिए व्यापक व्यवस्था की है.

REET: परीक्षा में नकल रोकने के लिए आज राजस्थान के 5 जिलों में इंटरनेट बंद

परीक्षा में नकल रोकने के लिए आज राजस्थान के 5 जिलों में इंटरनेट बंद. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर:

राजस्थान (Rajasthan) के पांच जिलों में आज 12 घंटे के लिए मोबाइल इंटरनेट और एसएमएस बंद कर दिया जाएगा. राज्य में सरकारी स्कूलों के लिए शिक्षकों का चयन करने के लिए होने वाली परीक्षा के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है. अधिकारियों ने कहा है कि परीक्षा में नकल रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है. आरईईटी (REET) में करीब 16 लाख छात्र सरकारी स्कूलों में 31,000 पदों के लिए परीक्षा देंगे.

अजमेर, दौसा, अलवर, जयपुर और झुंझुनू पांच क्षेत्र में जहां इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रभावित होगी, वहां जिला कलेक्टर यह तय कर सकते हैं कि वे ब्लैकआउट अवधि को बढ़ाना या कम करना चाहते हैं या नहीं. अन्य जिलों के अधिकारियों को जरूरत पड़ने पर मोबाइल इंटरनेट स्नैपिंग पर कॉल करने की छूट दी गई है.

राजस्थान के सरकारी स्कूलों में शिक्षक बनने के लिए एक अभ्यर्थी को आरईईटी पास करना होगा.

आरईईटी के लिए निर्धारित उम्मीदवारों की बड़ी संख्या को देखते हुए, राज्य सरकार ने COVID-19 महामारी के बीच सुरक्षा और यात्रा के लिए व्यापक व्यवस्था की है.

शनिवार की रात, राजस्थान के सभी 33 जिलों में बस स्टैंडों पर उम्मीदवारों की भारी भीड़ देखी गई, क्योंकि वे उन क्षेत्रों में जाने की तैयारी कर रहे थे जहां उनके परीक्षा केंद्र स्थित हैं.

राज्य सरकार ने राज्य रोडवेज और निजी बसों दोनों में आरईईटी उम्मीदवारों के लिए मुफ्त यात्रा की घोषणा की थी. उत्तर पश्चिम रेलवे लगभग सभी महत्वपूर्ण स्टेशनों को कवर करते हुए 26 विशेष ट्रेनों का संचालन कर रहा है ताकि उम्मीदवारों को उनके परीक्षा स्थलों और घर तक पहुंचने में मदद मिल सके.


परीक्षा अजमेर स्थित राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा 3,993 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की जा रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बोर्ड के अध्यक्ष डीपी जारोली ने कहा, "परीक्षा की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं और हम सुनिश्चित करेंगे कि अनुचित साधनों का कोई उपयोग न हो."