Punjab: अकाली यूथ विंग के नेता पर 20 राउंड फायरिंग, मौके पर मौत, CCTV में कैद हुई वारदात

पंजाब के मोहाली में युवा अकाली नेता की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई. हमलावरों ने अकाली नेता पर 20 राउंड फायरिंग की. मामले में अभी तक किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है.

Punjab: अकाली यूथ विंग के नेता पर 20 राउंड फायरिंग, मौके पर मौत, CCTV में कैद हुई वारदात

पंजाब में दिनदहाड़े अकाली दल के यूथ विंग के नेता की हत्या.

चंडीगढ़:

पंजाब के मोहाली जिले में आज सुबह अकाली दल के युवा नेता को मौत के घाट उतार दिया गया. हमलावरों ने अकाली नेता पर 20 राउंड फायरिंग की. अकाली नेता की मौके पर ही मौत हो गई, अस्पताल भी ले जाने का समय नहीं मिला. हत्या की यह खौफनाक वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है. घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

पुलिस ने कहा कि अकाली नेता विक्की मिडूखेड़ा सेक्टर 71 के मटौर मार्केट में अपने स्पोर्ट्स यूटिलिटी वाहन में बैठने ही वाले थे कि चार में से दो नकाबपोश हमलावरों ने उनका पीछा किया और उनपर बार-बार फायरिंग की. पूरी घटना इलाके में लगे एक सीसीटीवी में कैद हो गई है. सीसीटीवी से स्पष्ट है कि हमलावर छात्र नेता का इंतजार कर रहे थे.

Delhi: स्पेशल सेल पुलिस ने जब्त की 48 करोड़ रुपये की हेरोइन, 4 तस्कर गिरफ्तार

पुलिस ने कहा कि अकाली नेता विक्की मिडूखेड़ा पर लगभग 20 राउंड गोलियां चलाई गईं और गोली लगने से उनकी मौत हो गई. खुलेआम हत्या के बाद नकाबपोश हमलावर कार में बैठकर मौके से फरार हो गए. पुलिस ने कहा कि मिडूखेड़ा को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

पुलिस को आशंका है कि घटना के पीछे पुरानी रंजिश हो सकती है. विक्की मिडूखेड़ा विपक्षी अकाली दल के सदस्य और पंजाब विश्वविद्यालय के एक सक्रिय छात्र नेता थे. वह पार्टी के छात्र विंग, स्टूडेंट ऑर्गनाइजेशन ऑफ इंडिया के पूर्व अध्यक्ष थे.


सोशल मीडिया पर दोस्ती कर पहले किया प्यार, लड़की को धमकी दे उतरवाए कपड़े, फिर ऐंठ लिए 58 हजार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अकाली दल के वरिष्ठ नेता और पार्टी प्रवक्ता दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि इस घटना ने एक बार फिर राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था की पोल खोल दी है. उन्होंने कहा, "कोई भी सुरक्षित महसूस नहीं करता है क्योंकि पंजाब में कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब हो गई है." चीमा ने कहा कि यह घटना भी सवाल उठाती है क्योंकि स्वतंत्रता दिवस से पहले राज्य भर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. उन्होंने कहा, "इससे पता चलता है कि कानून का कोई डर नहीं है क्योंकि घटना दिनदहाड़े हुई है." उन्होंने अकाली नेता के हत्या के मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग की है.