पंजाब : कांग्रेस ने काटा अदिति सिंह के पति अंगद सिंह सैनी का टिकट, बोले- 'अब जनता फैसला करेगी'

अंगद सिंह ने बताया कि कांग्रेस ने मेरे जीवन के चलते मेरा टिकट काटा है. क्या कोई महिला अपना फैसला खुद करे, तो क्या उसको रोकना चाहिए? मैं एहसान फरामोश आदमी नहीं हूं. अब जनता फैसला करेगी कि पार्टी का फैसला ठीक था या गलत.

चंडीगढ़:

पंजाब चुनाव में इस बार यूपी का कनेक्शन भी देखने को मिल रहा है. कारण, कांग्रेस ने रायबरेली से भाजपा उम्मीदवार अदिति सिंह के पति अंगद सिंह सैनी का पंजाब के नवाशहर से टिकट काट दिया है. 2017 में पंजाब विधानसभा में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़कर जीतने वाले वह सबसे कम उम्र के कांग्रेस विधायक थे. लेकिन इस बार पार्टी ने उन्हें टिकट न देकर सतबीर सिंह सैनी बालिचिकी को मैदान में उतारा है. चर्चा है कि अंगद सिंह की पत्नी व कांग्रेस के विधायक रहीं अदिति सिंह के भाजपा में शामिल होने के बाद कांग्रेस ने यह फैसला लिया है. इस पर एनडीटीवी ने अंगद सिंह सैनी से खास बातचीत की.

प्राइवेट जेट में उड़ान भरने वाले दलित हैं मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी: आप

अंगद सिंह ने बताया कि कांग्रेस ने मेरे जीवन के चलते मेरा टिकट काटा है. क्या कोई महिला अपना फैसला खुद करे, तो क्या उसको रोकना चाहिए? मैं एहसान फरामोश आदमी नहीं हूं. पार्टी ने मेरे पिताजी को और उनकी मौत के बाद मेरी माता जी को टिकट दिया था. पार्टी को आज कोई कमी लगी होगी, जिसके कारण उन्होंने मेरा टिकट काट दिया. अब जनता फैसला करेगी कि पार्टी का फैसला ठीक था या गलत.

उन्होंने बताया कि मैंने निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए नामांकन दाखिल किया है. यह मेरा फैसला नहीं, बल्कि नवांशहर की आम जनता का फैसला है. अब इस शहर में जितने भी निर्वाचित लोग थे, उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है. मेरा टिकट क्यों काटा गया, इसके बारे में वह लोग ही बेहतर बता सकते हैं. लेकिन सोशल मीडिया और प्रेस के माध्यम से जो पता चला है वह यह है कि मेरी निजी जिंदगी को लेकर शायद यह फैसला किया गया है. 

Punjab Election: रेप केस में MLA सिमरजीत सिंह बैंस को राहत, SC ने गिरफ्तारी पर गुरुवार तक लगाई रोक  

नवांशहर विधायक ने कहा कि एक तरफ हम बोलते हैं कि कांग्रेस पार्टी एक सेक्यूलर पार्टी है और यहां पर फ्रीडम ऑफ स्पीच है और वूमेन एंपावरमेंट की बात की जाती है लेकिन अगर कोई महिला अपना फैसला खुद करती है तो क्या हमें उसको रोकना चाहिए? 18 साल से ऊपर का कोई भी व्यक्ति हो, वह अपना फैसला खुद कर सकता है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि जनता जनार्दन होती है. नवांशहर की जनता बहुत समझदार है. NRI इलाका है. आज से पहले भी दो बार हमारे परिवार का टिकट काटा गया था और दोनों बार ही हमारा परिवार निर्दलीय लड़ा व जीतकर भी आया. अब यह तीसरी बार टिकट काटा गया है और यह इतिहास रचा जा रहा है. अब यह लड़ाई सही और गलत की लड़ाई है. अब नवांशहर के लोग फैसला करेंगे कि जो कांग्रेस पार्टी के आलाकमान ने किया, वह सही है या गलत.