पंजाब कांग्रेस में कलह: समिति से मिलने दिल्‍ली पहुंचेंगे अमरिंदर, साथ में हैं 'आप' के तीन निलंबित MLA

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को आज पंजाब कांग्रेस में कलह को शांत करने के लिए बनाई गई तीन सदस्यीय कमेटी से मिलना है.

पंजाब कांग्रेस में कलह: समिति से मिलने दिल्‍ली पहुंचेंगे अमरिंदर, साथ में हैं 'आप' के तीन निलंबित MLA

सीएम अमरिंदर को कांग्रेस की तीन सदस्यीय कमेटी से मिलना है

खास बातें

  • 'आप' के तीन निलंबित विधायकों को कांग्रेस में शामिल कराया है
  • पार्टी के कुछ विधायकों की नाराजगी का कर रहे सामना
  • पंजाब में अगले साल होने है विधानसभा चुनाव
नई दिल्ली:

पंजाब कांग्रेस की कलह फिलहाल थमने का नाम नहीं ले रही है. अंसंतुष्‍ट विधायकों की नाराजगी का सामना कर रहे मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह, पार्टी आलाकमान की कमेटी में हाज़िरी लगाने दिल्ली आ रहे हैं. आम आदमी पार्टी (आप) के तीन निलंबित विधायक भी कैप्टन के साथ हैं. इन तीनों को कांग्रेस में शामिल कराके शक्ति प्रदर्शन की कोशिश की जाएगी. 
सीएम अमरिंदर तीन सदस्यीय कमेटी के साथ मीटिंग करने के लिए चंडीगढ़ से दिल्ली रवाना हो गए हैं लेकिन, दिल्ली आने से कुछ ही देर पहले एक तरह से अपना शक्ति प्रदर्शन करते हुए कैप्टन ने आम आदमी पार्टी के 3 बाग़ी विधायकों सुखपाल खैरा, पिरमल सिंह धौला और जगदेव सिंह को कांग्रेस में शामिल करा लिया. कैप्टन के मुताबिक, पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी की मंज़ूरी भी मिल गई है... बता दें कि मुख्यमंत्री को आज पंजाब कांग्रेस में कलह को शांत करने के लिए बनाई गई तीन सदस्यीय कमेटी से मिलना है.

AICC के पैनल से मुलाकात के बाद भी नरम नहीं पड़े नवजोत सिद्धू के तेवर, किया ट्वीट...

गौरतलब है कि अमरिंदर इस समय नवजोत सिंह सिद्धू सहित कुछ पार्टी विधायकों की आलोचना का सामना कर रहे हैं. अमरिंदर के खिलाफ सिद्धू तो खुलकर अपने असंतोष का इजहार कर चुके हैं. उनके कुछ बयान तो इतने तीखे हैं कि कांग्रेस हाईकमान को चिंता सताने लगी है. पंजाब में अगले साल चुनाव होने हैं,. हालात को सामान्‍य करने के लिए कांग्रेस की एक टीम ने सिद्धू और राज्‍य में कांग्रेस के अन्‍य असंतुष्‍ट विधायकों से बात की. वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खडगे की अगुवाई में AICC की ओर से नियुक्‍त तीन सदस्‍यीय पैनल ने मंगलवार को सिद्धू से बात की और उनकी नाराजगी की वजह जानी.


सिद्धू और सीएम अमरिंदर सिंह का 'झगड़ा' सुलझाने के लिए सोनिया गांधी ने उठाया कदम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मीटिंग के बाद उन्‍होंने कहा, 'मेरे रुख में कोई बदलाव नहीं आया है. मैंने सच को छुपाया नहीं. मैं यहां आलाकमान के बुलावे पर आया है. मैंने पंजाब के लोगों की आवाज को शीर्ष स्‍तर पर पहुंचाई. सच को छुपाया जा सकता है लेकिन हराया नहीं जा सकता.' सिद्धू ने एक ट्वीट भी किया, जिसमें हालांकि उन्‍होंने किसी पर सीधा हमला नहीं साधा लेकिन 'पंजाबियत' के बारे में बात की.