हमारे पास कड़े फैसले लेने का साहस, 2022 तक 5 हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य: पीएम मोदी

इंडियन इंटरनेशनल कंवेशन ऐंड एक्सपो सेंटर की नींव रखने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहा कि यह दिल्ली के अंदर एक छोटे शहर जैसा होगा.

हमारे पास कड़े फैसले लेने का साहस, 2022 तक 5 हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य: पीएम मोदी

पीएम मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

इंडियन इंटरनेशनल कंवेशन ऐंड एक्सपो सेंटर की नींव रखने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहा कि यह दिल्ली के अंदर एक छोटे शहर जैसा होगा. एक ही कैंपस के अंदर कंवेशनल हॉल, एक्सपो हॉल, मीटिंग हॉल, होटल, मार्केट, ऑफिस और अन्य सुविधाएं होगीं. इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार देश के हर गांव तक ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी, हर परिवार तक बिजली और ग्रामीण क्षेत्र में सबसे बड़े बैंकिंग नेटवर्क इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक को बनाने का काम कर रही है.

न्यूयॉर्क में मिलेंगे भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री, इमरान खान के अनुरोध को भारत ने स्वीकारा

पीएम मोदी ने कहा कि इस सरकार ने देश के विकास के लिए अभूतपूर्व योजनाओं पर कार्य शुरू किया है - सबसे लंबी सुरंग बनाने का काम, सबसे लंबी गैस पाइपलाइन बिछाने का काम, समंदर पर सबसे लंबा पुल बनाने का काम, सबसे बड़ी मोबाइल मैन्युफेक्चरिंग युनिट बनाने का काम.  देश में पिछले चार वर्षों में चौतरफा विकास इसलिए संभव हो पाया, उन्हीं संसाधनों, उन्हीं संसाधनों के रहते सरकार बेहतर काम इसलिए कर पाई क्योंकि राष्ट्र हित को सर्वोपरि रखा गया, व्यवस्थाओं को सही दिशा की तरफ मोड़ा गया.

राहुल गांधी का वसुंधरा राजे पर हमला: आम आदमी का पैसा चुराकर निकाल रही हैं 'गौरव यात्रा'

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम दुनिया में कहीं भी जाएं, अक्सर देखने को मिलता है कि छोटे-छोटे देश भी बड़ी-बड़ी कॉन्फ्रेंस रखने की क्षमता रखते हैं. इस तरह की आधुनिक व्यवस्थाओं के निर्माण की वजह से कई देश कॉन्फ्रेंस टूरिज्म के हब बने हैं. लेकिन हमारे यहां बरसों तक इस दिशा में सोचा ही नहीं गया. बड़ी-बड़ी कॉन्फ्रेंस को सिर्फ प्रगति मैदान जैसे कुछ एक सेंटरों तक ही सीमित कर दिया गया। अब ये सोच बदली है और इसी का परिणाम आज का ये आयोजन है. 

लोकसभा चुनाव 2019: बिहार NDA में अब भी फंसा है सीटों का पेंच, नीतीश कुमार ने अमित शाह से की 17 सीटों की मांग

आईटी और खुदरा क्षेत्र में बड़ी संख्या में रोजगार सृजन हुआ है. 80 फीसदी मोबाइल फोन अब देश में बनने लगे हैं, विदेशी मुद्रा खर्च में 3 लाख करोड़ रुपये की बचत हुई है. भारतीय अर्थव्यवस्था आठ प्रतिशत से अधिक दर से कर रही वृद्धि, अगले 5-7 साल में पांच हजार अरब डॉलर की हो जाएगी अर्थव्यवस्था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बनारस में नहीं मिल पाई महिला तो लगा दी वॉल्वो बस में आग

तीन सरकारी बैंकों के विलय की घोषणा का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि इस सरकार के पास कड़े फैसले लेने का साहस है. भारत को 2022 तक पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य, विनिर्माण और कृषि क्षेत्र से आएंगे एक-एक हजार अरब डॉलर.

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरूवार को इंडियन इंटरनेशनल कॉन्वेंशन एंड एक्सपो सेंटर की नींव रखने के लिए धौला कुआं से द्वारका तक मेट्रो की एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन में सफर किया. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि उनका सफर 18 मिनट में पूरा हुआ. 

VIDEO: क्या मध्य प्रदेश कांग्रेस में अब भी गुटबाजी ?


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com