खोए हुए 4 बच्चों को खोजकर परिवार से मिलाया, ASI राजेश की खूब हो रही तारीफ

स्टेट क्राइम ब्रांच एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग पंचकूला में तैनात असिस्टेंट सबइंस्पेक्टर राजेश कुमार ने काफी कोशिश और मशक्कत के बाद आखिरकार 4 बच्चों को उनके परिवार से मिला दिया.

खोए हुए 4 बच्चों को खोजकर परिवार से मिलाया, ASI राजेश की खूब हो रही तारीफ

ASI राजेश कुमार ने 4 बच्चों को उनके परिवार से मिलाया

स्टेट क्राइम ब्रांच एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग पंचकूला में तैनात असिस्टेंट सबइंस्पेक्टर राजेश कुमार ने काफी कोशिश और मशक्कत के बाद आखिरकार 4 बच्चों को उनके परिवार से मिला दिया. अपने बच्चों को पाकर परिवारवाले खुशी से फूले नहीं समा रहे.

सीरम इंस्टीट्यूट की निर्माणाधीन इमारत में आग, 'कोविशील्‍ड' वैक्‍सीन का निर्माण नहीं होगा प्रभावित : सूत्र

एएसआई राजेश कुमार के मुताबिक, वो लगातार लापता या अगवा किये गए बच्चों को खोजने के अभियान में लगे हैं. इसी कड़ी में उन्होंने हाल ही में 4 बच्चों को उनके परिवार से मिलाया. दो लड़के न बोल सकते थे, न सुन सकते थे, राजेश का कहना है कि 15 साल का पहला लड़का जो 10 अक्टूबर 2019 को गुरुग्राम के सेक्टर 65 से गायब था इसे नजफगढ़ से बरामद किया. इसी ये बच्चा न तो बोल सकता था और न ही सुन सकता था.

इसी तरह एक दूसरे मामले में 13 साल का एक लड़का जो गुरुग्राम के डीएलएफ इलाके से 29 सितंबर 2018 को गायब हुआ था, उसे काफी कोशिश के बाद कनॉट प्लेस के एक आश्रम से बरामद किया गया.

गणतंत्र दिवस को लेकर जारी किया गया ट्रैफिक एडवाइजरी, 23 और 26 जनवरी को इन रास्तों पर जाने से बचें


तीसरे मामले में 13 साल का एक लड़का जो छत्तीसगढ़ के रायपुर से 12 दिसम्बर 2020 को गायब हुआ था. उसे 13 जनवरी को बरामद कर बच्चे के परिवार के हवाले किया गया. ये बच्चा न बोल सकता था न सुन सकता था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एक चौथे मामले में राजेश ने 14 साल की लड़की जो बिहार के कटिहार से 16 सितंबर 2019 से गायब थी उसे 15 जनवरी को पंजाब के फाजिल्का से बरामद किया और परिवार के हवाले किया. अपने बच्चों को पाकर परिवार राजेश का शुक्रिया अदा करते नहीं थक रहे हैं.