कश्मीर पर भारत से तनातनी के बीच बोले इमरान खान- पाकिस्तान पहले परमाणु हथियारों का नहीं करेगा इस्तेमाल

कश्मीर (Kashmir) को लेकर जारी तनाव के बीच पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने सोमवार को कहा कि उनका देश कभी भी भारत के साथ युद्ध शुरू नहीं करेगा.

कश्मीर पर भारत से तनातनी के बीच बोले इमरान खान- पाकिस्तान पहले परमाणु हथियारों का नहीं करेगा इस्तेमाल

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • भारत के साथ तनाव पर बोले इमरान ख़ान
  • 'परमाणु हथियारों का पहले इस्तेमाल नहीं'
  • इमरान ने पहले परमाणु जंग की धमकी दी थी
नई दिल्ली:

कश्मीर (Kashmir) को लेकर जारी तनाव के बीच पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने सोमवार को कहा कि उनका देश कभी भी भारत के साथ युद्ध शुरू नहीं करेगा. इमरान खान (Imran Khan) ने गवर्नर हाउस में जुटे सिख समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए कहा, 'हम कभी भी युद्ध शुरू नहीं करेंगे. पाकिस्तान और भारत दोनों परमाणु शक्तियां हैं और अगर तनाव बढ़ा तो दुनिया खतरे का सामना करेगी.' इमरान खान ने कहा कि युद्ध किसी समस्या का समाधान नहीं है. उन्होंने कहा, 'मैं भारत को बताना चाहता हूं कि युद्ध किसी समस्या का हल नहीं है. युद्ध में जीतने वाले को भी बहुत कुछ गंवाना पड़ता है. युद्ध कई अन्य मुद्दों को जन्म देता है.' इस दौरान इमरान ने कहा कि पाकिस्तान कभी भी पहले परमाणु बम का इस्तेमाल नहीं करेगा.

यह भी पढ़ें: 'पाकिस्तान परमाणु धमकी देना जारी रख सकता है, हम उससे नहीं डरते', इंडियन आर्मी ने दिया बयान

पाकिस्तान स्थित आतंकवादियों द्वारा जनवरी 2016 में पठानकोट स्थित वायुसैनिक अड्डे पर किए गए हमले के बाद भारत की पाकिस्तान से बातचीत नहीं हो रही है और उसका कहना है कि बातचीत और आतंकवाद साथ-साथ नहीं चल सकते. दोनों देशों के बीच इस साल की शुरुआत में तनाव तब और बढ़ गया था जब पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन के एक आत्मघाती हमलावर ने कश्मीर के पुलवामा जिले में सीआरपीएफ जवानों की बस पर हमला किया था. इस हमले में 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे.

यह भी पढ़ें: भारत में यूएस के पूर्व राजदूत ने कहा- इमरान खान कश्मीर मुद्दे को दे रहे तूल, पीएम मोदी पर करते हैं व्यक्तिगत हमला

बढ़ते आक्रोश के बीच भारतीय वायुसेना ने आतंकवाद निरोधी अभियान चलाया और 26 फरवरी को पाकिस्तान की सीमा के अंदर बालाकोट में जैश के सबसे बड़े आतंकी प्रशिक्षण शिविर को निशाना बनाया. इसके अगले ही दिन पाकिस्तानी वायुसेना ने भारतीय ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की और इस दौरान हुई हवाई झड़प में एक भारतीय मिग-21 विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जबकि उसके पायलट को पाकिस्तान ने अपने कब्जे में ले लिया. उसे एक मार्च को भारत को सौंपा गया.

यह भी पढ़ें: इमरान खान ने कहा- अगर भारत जम्मू कश्मीर पर फैसला 'पलटे' तो कर सकते हैं बातचीत

भारत और पाक के बीच हाल में तनाव उस वक्त फिर बढ़ गया जब भारत ने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को रद्द कर दिया. इस पर प्रतिक्रिया स्वरूप पाकिस्तान ने भारत के साथ अपने कूटनीतिक संबंधों का दर्जा कम कर दिया और भारतीय उच्चायुक्त को निष्कासित कर दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ पूर्व में हुई अपनी टेलीफोन वार्ता का हवाला देते हुए खान ने कहा, 'मैंने उन्हें बताया कि भारत और पाकिस्तान दोनों जगह एक जैसे हालात हैं. मैंने उन्हें जलवायु परिवर्तन के बारे में बताया. हम एक विस्फोटक स्थिति का सामना कर रहे हैं. अगर हमने इस समस्या (जलवायु परिवर्तन) का हल नहीं किया तो (दोनों देशों में) पानी की कमी होगी. मैंने उन्हें बताया कि हम एक साथ कश्मीर मुद्दे का हल वार्ता के जरिये कर सकते हैं.'

'न्यूयॉर्क टाइम्स' में इमरान खान के कश्मीर पर लिखे आर्टिकल को लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कही यह बात...


पाकिस्तान के साथ वार्ता को लेकर भारत की तरफ से उनके प्रयासों पर 'कोई प्रतिक्रिया' नहीं मिलने पर हताशा जाहिर करते हुए खान ने कहा, 'मैं जो भी प्रयास करता हूं, भारत एक महाशक्ति की तरह व्यवहार करता है और हमसे (वार्ता के लिये) ऐसा करने और वैसा नहीं करने को कहता है. वह हमें आदेश देता है.' उन्होंने यहां विभिन्न यूरोपीय देशों से सिखों को बताया कि पाकिस्तान सिखों को मल्टीपल वीजा जारी करेगा, ताकि वे अपने पवित्र स्थलों की यात्रा कर सकें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: धारा 370 हटने के बाद पाकिस्तान में इतनी बौखलाहट क्यों?