नीतीश कुमार की JDU के प्रवक्ता के.सी. त्यागी ने कबूल की हार, कहा- जनता के फैसले का स्वागत है

तेजस्‍वी यादव की अगुवाई वाला महागठबंधन आगे चल रहा है. एनडीए की सीटों में कमी आई है. रुझानों के आधार पर यह माना जा रहा है कि महागठबंधन संभवत: बहुमत के लिए जरूरी आंकड़े को हासिल कर लेगा.

नई दिल्ली:

Bihar Assembly elections Result 2020: बिहार विधानसभा चुनाव के अब तक जो रुझान सामने आए हैं, उसमें तेजस्‍वी यादव की अगुवाई वाला महागठबंधन आगे चल रहा है. एनडीए की सीटों में कमी आई है. रुझानों के आधार पर यह माना जा रहा है कि महागठबंधन संभवत: बहुमत के लिए जरूरी आंकड़े को हासिल कर लेगा. सीएम नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के प्रवक्‍ता केसी त्‍यागी (KC Tyagi) ने हार स्‍वीकार कर ली है. एनडीटीवी से बात करते हुए हालांकि उन्‍होंने कहा, हमें तेजस्‍वी यादव ने नहीं बल्कि प्राकृतिक आपदा ने हराया है.

यूपी में बीजेपी को टक्कर दे रही सपा, एमपी और गुजरात की सीटों पर "कमल" आगे

त्‍यागी ने कहा कि  हमें प्राकृतिक आपदा ने हराया है. न तो ब्रांड नीतीश गायब हुआ है और न ही तेजस्‍वी यादव स्‍थापित हुए हैं.गौरतलब है कि बिहार से अब तक जो रुझान आए हैं, उसमें एनडीए और महागठबंधन के बीच कांटे की टक्‍कर चल रही है. मुकाबला इतना नजदीकी है कि परिणाम को लेकर कोई भी अनुमान लगाना बेहद मुश्किल हो रहा है.

अगर तेजस्वी यादव जीते तो होंगे किसी भी राज्य के सबसे युवा मुख्यमंत्री होंगे

केसी त्‍यागी ने कहा, 'हम लोगों के फैसले का स्‍वागत करते हैं, हम आरजेडी या तेजस्‍वी यादव से नहीं हारे हैं, राष्‍ट्रीय आपदा से हारे हैं.' उन्‍होंने कहा कि हम केवल कोविड-19 के कारण पीछे चल रहे हैं. हम बिहार के पिछले 70 साल की खराब हालत का परिणाम भुगत रहे हैं. एनडीए की बात करें तो बीजेपी की सीटों में जहां इजाफा हो रहा है, वहीं नीतीश कुमार के जेडीयू की सीटों में कमी आई है, हालांकि एनडीए और महागठबंधन के बीच बेहद करीबी मुकाबला है. 


बिहार चुनाव : महिला वोटर का कम होना NDA के लिए चिंता की बात?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com