नगालैंड में अफस्पा और गृह मंत्री के खिलाफ प्रदर्शन, ग्रामीणों की मौत के मामले में कार्रवाई की मांग

नगालैंड के मोन जिले में शनिवार को विरोध के दौरान प्रदर्शनकारियों ने गृह मंत्री अमित शाह का पुतला जलाया और नारेबाजी की. ग्रामीणों की मौत के मामले में एक हफ्ते बाद भी कार्रवाई न होने से नाराज.

नगालैंड में अफस्पा और गृह मंत्री के खिलाफ प्रदर्शन, ग्रामीणों की मौत के मामले में कार्रवाई की मांग

Nagaland Protest : नगालैंड के मोन जिले में सेना के गलत ऑपरेशन में हुई थी ग्रामीणों की मौत

कोहिमा:

नगालैंड में बेकसूर ग्रामीणों की सुरक्षाबलों के हाथों मौत का मामला गरमाता जा रहा है. शनिवार को नगालैंड की राजधानी कोहिमा में बड़ा विरोध प्रदर्शन निकाला गया. इसमें गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) और अफस्पा कानून (AFSPA) के खिलाफ लोगों की नाराजगी देखी गई. मालूम हो कि नगालैंड के मोन जिले में पिछले हफ्ते सेना के हाथों मुठभेड़ में हुई चूक के दौरान 8 ग्रामीण मारे गए थे. इसके बाद भड़की हिंसा में 6 और ग्रामीणों की मौत हुई थी, जबकि एक सैनिक की जान गई थी. 


मोन जिले में प्रदर्शनकारियों ने संसद में पिछले हफ्ते दिए गए अमित शाह के बयान को झूठा और बनावटी करार दिया और उनसे माफी की मांग की. प्रदर्शनकारियों ने उनका पुतला जलाया और अपना आक्रोश जाहिर किया. प्रदर्शनकारियों का कहना था कि अफस्पा को नगालैंड से तुरंत हटाया जाना चाहिए. उन्हें आशंका है कि अफस्पा का इस्तेमाल इस मामले में शामिल सैनिकों को बचाने के लिए किया जा सकता है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


प्रदर्शन करने वालों में ओटिंग गांव के ग्रामीण भी शामिल थे, जिनके समुदाय के लोग उस घटना में मारे गए थे. ये जनजातियां कोनयाक समुदाय से ताल्लुक रखती हैं. उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह से माफी की मांग की है. साथ ही संसद में दिए गए उनके बयान को संसदीय रिकॉर्ड से हटाने को भी कहा है.