"भ्रष्ट समूहों को ध्वस्त करना मेरा मकसद": तमिलनाडु विधानसभा चुनाव पर NDTV से बोले कमल हासन

तमिलनाडु में दो दिग्गज जे जयललिता और एम करुणानिधि की मौत के बाद पहली बार विधानसभा चुनाव हो रहा है. इसमें एक चऱण में 6 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे.

कोयंबटूर:

Tamil Nadu Assembly Election :तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में अब दो हफ्ते से भी कम वक्त बचा है. सत्तारूढ़ एआईएडीएमके और विपक्षी डीएमके के गठबंधन में सीधी टक्कर के आसार के बीच अभिनय की दुनिया से सियासत में आए कमल हासन पार्टी के अच्छे प्रदर्शन को लेकर आशावान हैं.

हासन ने उम्मीद जताई कि उनकी पार्टी मक्कल निधि मयम (MNM)को जनता की सेवा करने का मौका मिलेगा. NDTV से कोयंबटूर के एक होटल में बात करते हुए कमल हासन ने कहा कि तमिलनाडु की राजनीति में पावरहाउस समझे जाने वाले AIADMK और DMK भले ही कहे जाते रहे हों, लेकिन उनका मकसद इन  भ्रष्ट समूहों को ध्वस्त करना है.हासन ने कहा कि हमारा उद्देश्य मीडिया या नेताओं से ग्रेड पाना नहीं है... हमारा मकसद भ्रष्ट धड़ों को ध्वस्त करना है.

कमल हासन ने कहा कि हम सत्ता में रहें या विपक्ष में, लेकिन यह चुनाव जनता में अप्रचलित और अलोकप्रिय हो चुकी पार्टियों (एआईएडीएमके-डीएमके) के शासन को खत्म करना है. कमल हासन ने कहा कि तमिलनाडु की राजनीति में एआईएडीएमके और डीएमके एक दूसरे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाने में व्यस्त हैं, लेकिन मैं सोचता हूं कि जब वे एक-दूसरे पर चिल्लाते हैं, तो मेरे चुनाव के जनसंपर्क अधिकारी के तौर पर काम करते हैं.


यह कमल हासन का पहला चुनाव नहीं होगा. एमएनएम ने 2019 का लोकसभा चुनाव भी लड़ा था, लेकिन प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा. पार्टी एक भी सीट नहीं जीत पाई और उसे महज 4 फीसदी वोट मिले, लेकिन कोयंबटूर जैसे शहरों में पार्टी का प्रदर्शन अच्छा रहा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


लोकसभा चुनाव के प्रदर्शन पर हासन ने कहा कि तब हम प्रारंभिक अवस्था में थे, दूसरी बात कि यह चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस के बीच था. ज्यादातर लोग चुनाव को उसी नजरिये से देख रहे थे. लेकिन तमिलनाडु में हम अब असली योद्धा हैं और हम विकल्प देने के लिए चुनाव मैदान में हैं. तमिलनाडु में दो दिग्गज जे जयललिता और एम करुणानिधि की मौत के बाद पहली बार विधानसभा चुनाव हो रहा है. इसमें एक चऱण में 6 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे.