मुंबई : COVID-19 टीकाकरण में दूसरा डोज लेने वालों में आई कमी, तकनीकी गड़बड़ी बताई गई वजह

महाराष्ट्र में कोरोना वैक्सीन के दूसरे चरण की शुरुआत सोमवार को की गई, लेकिन मुम्बई में दूसरे चरण के टीकाकरण के पहले दिन केवल 71 लोगों ने ही टीका लगाया.

मुंबई : COVID-19 टीकाकरण में दूसरा डोज लेने वालों में आई कमी, तकनीकी गड़बड़ी बताई गई वजह

प्रतीकात्मक तस्वीर

मुंबई:

महाराष्ट्र में कोरोना वैक्सीन के दूसरे चरण की शुरुआत सोमवार को की गई, लेकिन मुम्बई में दूसरे चरण के टीकाकरण के पहले दिन केवल 71 लोगों ने ही टीका लगाया. जबकि 16 जनवरी को टीकाकरण के पहले दिन 1900 से ज़्यादा लोगों को टीके लगे थे.

सोमवार से मुंबई सहित महाराष्ट्र में कोविड वैक्सीन के दूसरे चरण की शुरुआत की गई. देशभर में 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान शुरू किया गया और जिन लोगों को पहला वैक्सीन लेकर चार हफ्ते पूरे हुए, उन्हें अब दूसरा वैक्सीन दिया जा रहा है. पहले चरण के टीकाकरण के पहले दिन जहां मुंबई में 1926 लोगों को वैक्सीन दिया गया था, तो वहीं सोमवार को वैक्सीन का दूसरा डोज़ केवल 71 लोगों को दिया गया. सायन अस्पताल में बतौर एसोसिएट प्रोफेसर काम करने वालीं मनीषा श्रीवास्तव ने 16 जनवरी को पहला टीका लगाया था और चार हफ्ते बाद उन्हें 15 फरवरी को दूसरा टीका लगाया जाना था, लेकिन उन्हें टीका लेने के लिए किसी ने संपर्क नहीं किया, जिसके वजह से उन्हें अबतक दूसरा टीका नहीं लग पाया है.

मनीषा श्रीवास्तव ने कहा, ''मैं इच्छुक थी दूसरे डोज़ लेने के लिए, लेकिन कोई SMS नहीं आया, किसी ने जानकारी नहीं दी. हालांकि पता था कि कोई SMS नहीं आया जो पहले डोज़ के समय आया था. उम्मीद थी कि वो आएगा और इसी चक्कर में रह गया.

मुंबई में वैक्सीन के दूसरे डोज़ लेने वालों के संख्या में आई कमी के लिए सायन अस्पताल के कम्युनिटी मेडिसिन की हेड सीमा बंसोड़ कोविड पोर्टल में तकनीकी गड़बड़ी को ज़िम्मेदार बता रही हैं, उनके अनुसार दो दिनों में आँकड़ों में सुधार देखने मिलेगा

सायन अस्पताल में जनऔषद विभाग के हेड सीमा बंसोड़ ने कहा, ''मैं आज वैक्सीनेशन सेंटर में सुपरविशन के लिए गई थी और वहां मुझे समझ आया कि कई बेनीफिसियरीज (Beneficiaries) वहां आए थे, लेकिन पोर्टल पर उनका नाम नहीं दिख रहा था, जिसके वजह से उन्हें वैक्सीन नहीं दिया गया. यह पता चलने पर मैन पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट के AHO से बात की तो पता चला कि पोर्टल पर जबतक लोगों का नाम अपलोड नहीं किया जा सकता, तबतक हम इन्हें वैक्सीन नहीं देंगे, और उसके लिए दो या तीन दिन लगेंगे, दो या तीन दिन बाद सभी बेनीफिसियरीज वैक्सीन ले सकेंगे.

इस बीच अब वैक्सीन की प्रक्रिया में तेज़ी लाने के लिए बीएमसी की ओर से अब 20 प्राइवेट अस्पतालों का चयन किया गया है जो अपने कर्मचारियों को वैक्सीन दे सकेंगे. हालांकि यह अस्पताल अपने कर्मचारियों के अलावा फिलहाल और किसी को वैक्सीन नहीं दे सकते.


बीएमसी के अडिशनल म्युनिसिपल कमिश्नर सुरेश काकानी ने कहा, ''हमने 20 निजी अस्पताल का भी चयन किया है लेकिन फिलहाल यह अस्पताल अपने ही कर्मचारियों को वैक्सीन दे पाएंगे, जब वैक्सीन का तीसरा फेज़ आएगा, तब यह अस्पताल दूसरे लोगों को भी वैक्सीन दे पाएंगे, लेकिन इसकी प्रक्रिया अभी शुरू नहीं हुई है.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हेल्थ केअर वर्कर्स को वैक्सीन का दूसरा डोज़ एक ऐसे समय में दिया जाना था, जब महाराष्ट्र में कोविड के मामले बढ़ रहे हैं. लेकिन तकनीकी दिक्कतों के वजह से अब इन लोगों को दूसरे चरण का वैक्सीन लेने के लिए कुछ दिनों का इंतज़ार और करना पड़ेगा, जिसके वजह से वैक्सीनेशन को लेकर अब सरकार की तैयारियों पर सवाल उठने लगे हैं.