Maharashtra : मनी लांड्रिंग मामले में ED ने NCP नेता एकनाथ खडसे के दामाद को किया गिरफ्तार

एकनाथ खडसे (68) ने पिछले साल महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) में शामिल होने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) छोड़ दी थी.

Maharashtra : मनी लांड्रिंग मामले में ED ने NCP नेता एकनाथ खडसे के दामाद को किया गिरफ्तार

प्रवर्तन निदेशालय ने महाराष्‍ट्र के नेता एकनाथ खडसे के दामाद को गिरफ्तार किया है (प्रतीकात्‍मक फोटो)

खास बातें

  • बीजेपी छोड़कर एनसीपी में शामिल हुए थे खडसे
  • मामला पुणे में 2016 में जमीन खरीदने से जुड़ा है
  • अधिकारियों का आरोप, जांच में सहयोग नहीं कर रहे गिरीश चौधरी
मुंंबई:

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पुणे में 2016 में जमीन खरीदने में कथित अनियमितताओं से जुड़े मनी लांड्रिंग के एक मामले में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) नेता एकनाथ खडसे (Eknath Khadse) के दामाद गिरीश चौधरी को गिरफ्तार किया है. अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि चौधरी को मंगलवार की रात को गिरफ्तार किया गया. उनसे दक्षिण मुंबई में केंद्रीय जांच एजेंसी के कार्यालय में इस मामले में काफी देर तक पूछताछ की गई. अधिकारियों ने आरोप लगाया कि चौधरी पूछताछ के दौरान सहयोग नहीं कर रहे थे. उन्हें धन शोधन रोकथाम अधिनियम (PMLA) के तहत दर्ज मामलों की सुनवाई करने वाली एक विशेष अदालत के समक्ष पेश किए जाने की संभावना है.

'राजनाथ सिंह से लेकर सुषमा स्वराज तक को देखा, लेकिन ये BJP...' : ममता बनर्जी का वार 

खडसे (68) ने पिछले साल महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) में शामिल होने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) छोड़ दी थी. ईडी ने इस साल की शुरुआत में मामले में उनसे पूछताछ की थी.खडसे ने इसी भूमि सौदे के संबंध में आरोपों का सामना करने के बाद 2016 में तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की अगुवाई वाले महाराष्ट्र मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था. 


22 फीसदी बच्चों में घर कर रहा कोविड का भय, 42% में चिड़चिड़ापन और चिंता: AIIMS स्टडी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ऐसा आरोप है कि उन्होंने पुणे के भोसारी इलाके में अपने परिवार को महाराष्ट्र औद्योगिक विकास निगम (एमआईडीसी) की सरकारी जमीन खरीदने (Purchase of a land plot in Pune)में मदद के लिए अपने पद का दुरुपयोग किया.उन्होंने आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि महाराष्ट्र के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के साथ ही आयकर विभाग ने उन्हें मामले में क्लीन चिट दे दी थी.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)