पेट्रोल-डीजल पर ‘जजिया कर’ लगा रही हैं मोदी और खट्टर सरकारें: रणदीप सुरजेवाला

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता ने हरियाणा में वैट से जुड़े कुछ आंकड़े रखते हुए आरोप लगाया कि भाजपा-जजपा सरकार पेट्रोल-डीज़ल पर वैट लगा ‘‘जनता से लूट’’ में और भी आगे है.

पेट्रोल-डीजल पर ‘जजिया कर’ लगा रही हैं मोदी और खट्टर सरकारें: रणदीप सुरजेवाला

कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला (फाइल फोटो)

नई दिल्ली/चंडीगढ़:

कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार और मनोहर लाल खट्टर सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर ‘जजिया कर' लगाकर जनता का बजट बिगाड़ दिया है. उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘मोदी-खट्टर सरकारों ने पेट्रोल-डीज़ल पर ताबड़तोड़ कर लगा कर जनता की जेब काटी है व ‘‘जजिया कर'' लगाकर बजट बिगाड़ दिया है.'' सुरजेवाला ने कहा, ‘‘अकेले साल 2021 के 9 महीनों में भाजपा सरकार ने पेट्रोल की कीमत 28 रुपये प्रति लीटर व डीज़ल की कीमत 26 प्रति रुपये लीटर बढ़ा दी. अब पेट्रोल व डीज़ल की कीमत क्रमशः 5 व 10 रुपये प्रति लीटर कम कर इसे झूठा दिवाली गिफ्ट बनाकर बेचा जा रहा है. यह अपने आप में धोखा है.'' कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता ने हरियाणा में वैट से जुड़े कुछ आंकड़े रखते हुए आरोप लगाया कि भाजपा-जजपा सरकार पेट्रोल-डीज़ल पर वैट लगा ‘‘जनता से लूट'' में और भी आगे है.

उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस सरकार के समय अक्टूबर, 2014 में हरियाणा में डीज़ल पर वैट 8.8 प्रतिशत था. आज की तारीख में डीज़ल पर ‘वैट' 16 प्रतिशत है तथा ‘अतिरिक्त वैट' 5 प्रतिशत है. यानि 100 प्रतिशत इजाफा हुआ है.'' सुरजेवाला ने दावा किया, ‘‘खट्टर सरकार का सारा ध्यान पैकेजिंग और जुमलेबाजी पर है, वह जनता को कच्चे तेल की कीमतों का लाभ नहीं देना चाहती. मोदी सरकार के बाद अब खट्टर सरकार ने आंकड़ों की बाज़ीगरी दिखाते हुए एक तरफ तो पेट्रोल पर 6.5 प्रतिशत व डीजल पर 0.40 प्रतिशत की कमी की, लेकिन साथ ही जहां पेट्रोल पर अधिकतम वैट सीमा में केवल 1.12 रुपये की कमी की, वहीं डीजल में तो अधिकतम वैट सीमा 10.08 रुपये से बढ़ाकर 11.86 रुपये ही कर दी.''



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com