महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते केस के बीच दोबारा लॉकडाउन की संभावना पर स्वास्थ्य मंत्री ने स्थिति स्पष्ट की

महाराष्ट्र में शनिवार को कोविड-19 के 9170 नए मामले सामने आये हैं. जबकि मुंबई में 6347 केस मिले हैं. महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में सात लोगों की मौत भी हुई है.

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते केस के बीच दोबारा लॉकडाउन की संभावना पर स्वास्थ्य मंत्री ने स्थिति स्पष्ट की

महाराष्ट्र में दोबारा लॉकडाउन लगने की अटकलें जोरों पर

मुंबई:

शनिवार को पिछले 24 घंटे के हिसाब से महाराष्ट्र में 9170 नए कोविड केस (Maharashtra Corona Cases) सामने आए हैं. पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मामलों में उछाल के बीच राज्य में दोबारा लॉकडाउन को लेकर भी अटकलें शुरू हो गई हैं. महाराष्ट्र आपदा प्रबंधन मंत्री के शुक्रवार को दिए गए बयान के बाद इन अटकलों को काफी बल मिला था. इस पर महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे से भी शनिवार को पूछा गया तो उन्होंने कहा कि राज्य में अभी लॉकडाउन पर चर्चा नहीं चल रही है, हालात को काबू में करने के लिए सख्त कदम उठाए जा रहे हैं. लेकिन हालात नियंत्रण में नहीं आए तो कठोर कदम उठाने पडेंगे.  

दिल्ली : कोरोना के मामलों में 50 फीसदी का उछाल, 7 माह का रिकॉर्ड टूटा

महाराष्ट्र में शनिवार को कोविड-19 के 9170 नए मामले सामने आये हैं. जबकि मुंबई में 6347 केस मिले हैं. महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में सात लोगों की मौत भी हुई है. टोपे ने औरंगाबाद में कहा, लॉकडाउन लगाने पर अभी चर्चा नहीं हो रही है. सरकार संक्रमण के मामले, पॉजिटिव रेट, अस्पतालों में बेड की संख्या और ऑक्सीजन के उपभोग पर गौर करते हुए पाबंदियों के बारे में फैसला लेगी. अगर रोजाना ऑक्सीजन की आवश्यकता 700 मीट्रिक टन को पार करती है तो राज्य में लॉकडाउन लग जाएगा.

टोपे महात्मा गांधी मिशन एजुकेशन ट्रस्ट की 39वीं वर्षगांठ के अवसर पर एक कार्यक्रम में भाग लेने यहां आए थे.
आपदा प्रबंधन मंत्री विजय वडेट्टीवार ने एक दिन पहले कहा था कि नए लॉकडाउन का दौर करीब आ रहा है, लेकिन निर्णय मुख्यमंत्री लेंगे. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अभी हमने सामाजिक समारोहों पर कुछ पाबंदियां लगाई हैं. अगर इससे संक्रमण का प्रसार नियंत्रित होता है तो बढ़िया है। वरना हमें कड़ी पाबंदियां लगानी पड़ेंगी.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे इस संबंध में जल्द ही शीर्ष अधिकारियों की एक बैठक करेंगे. उन्होंने कहा कि मौजूदा हालात में ओमिक्रॉन और डेल्टा स्वरूप के संक्रमण के मामलों का पता लगाना महत्वपूर्ण है और राज्य के प्रत्येक प्रशासनिक मंडल में कम से कम एक जीनोम अनुक्रमण लैब की आवश्यकता है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


'दिल्ली में ओमिक्रॉन की वजह से बढ़ रहे हैं कोविड मामले', LNJP अस्पताल के निदेशक ने NDTV से कहा