मध्य प्रदेश : महिला के कंधे पर जेठ को बैठाकर ससुराल वालों ने 3 किमी. तक चलने को किया मजबूर

मध्य प्रदेश के गुना जिले में एक ऐसी घटना सामने आई है, जोकि शर्मसार कर देने वाली है. मामला गुना जिले के सिरसी थाना क्षेत्र के ग्राम सागई और बांसखेडी का है.

भोपाल:

मध्य प्रदेश के गुना जिले में एक ऐसी घटना सामने आई है, जोकि शर्मसार कर देने वाली है. मामला गुना जिले के सिरसी थाना क्षेत्र के ग्राम सागई और बांसखेडी का है. इसके वीडियो वायरल होने के बाद तूल पकड़ा है. कुल चार वीडियो में एक महिला के कंधे पर जेठ को बैठाया गया है और फिर उसके साथ मारपीट करते हुए एक गांव से दूसरे गांव तक तीन किलोमीटर ले जाया गया. महिला अपराध का यह मामला बेहद ही चौंकाने और हैरान कर देने वाला है. 

जानकारी के मुताबिक, पीड़ित महिला शादीशुदा है. उसने कहा, ''मेरी पहली सुसराल ग्राम बांसखेडी है, मैं ग्राम दगड़फला ग्राम पंचायत राय बमोरी विधानसभा की रहने वाली हूं. अपने पति के द्वारा मुझे छोड़ने की बात और दूसरे के साथ रहने की बात से सहमत होकर मैं अपने विवाहित पति को उसकी मर्जी से छोड़कर एक अन्य युवक के साथ ग्राम सागई में रहने लगी.''


पीड़ित महिला ने बताया कि वह करीब एक माह से दूसरे युवक के साथ पति-पत्नी की तरह सागई गांव में रह रही थी. तभी अचानक 9 तारीख (9 फरवरी) को मेरे पूर्व ससुराल वाले ससुर, जेठ ससुर के अन्य लड़के करीब 8 लोग मोटरसाइकिल और पैदल सागई गांव मेरे घर आए और मुझे मारते पीटते हुए पूर्व सुसराल बांसखेड़ी के लिए जबरदस्ती ले गए. सागई गांव से बांसखेड़ी का रास्ता 3 किलोमीटर का है. इस दौरान मेरे साथ मारपीट की गई, और मेरा जेठ मेरे कंधों पर बैठा और मुझे पैदल सागई से बांसखेडी तक ले गए. इस मामले में फरियादी और आरोपी भील समाज के हैं.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस पूरे मामले का वीडियो बनाकर कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. जब सिरसी थाना प्रभारी राकेश शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि इस मामले में मारपीट की धाराओं में मामला 4 लोगों पर दर्ज किया गया है और चारों लोग गिरफ्तार कर लिए गए हैं. जब उनसे पूछा गया कि इस मामले में अपहरण की धारा में मामला दर्ज क्यों नहीं है? तो उन्होंने बताया कि वह अपने पूर्व पति के घर से गई और पूर्व पति के लोग तुरंत ही उसे जाकर ले आए. जबकि पीड़ित महिला का दावा है कि वह अपने दूसरे पति के साथ एक माह से सागई गांव में रह रही थी. यह घटनाक्रम तब हुआ जब उसका दूसरा पति मजदूरी के लिए  घर से बाहर गया हुआ था.