पत्रकारों को भी फ्रंटलाइन वर्कर माना जाए, वैक्सीनेशन में मिले प्राथमिकता : एडिटर्स गिल्ड

द एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने कहा, केंद्र सरकार से अनुरोध किया जाता है कि पत्रकारों को अग्रिम पंक्ति का कर्मचारी घोषित किया जाए और अन्य अग्रिम पंक्ति के कर्मियों की तरह इन्हें भी टीकाकरण में प्राथमिकता दी जाए.

पत्रकारों को भी फ्रंटलाइन वर्कर माना जाए, वैक्सीनेशन में मिले प्राथमिकता : एडिटर्स गिल्ड

Journalists को भी frontline workers माना जाए

नई दिल्ली:

पत्रकारों (Journalists) को भी फ्रंटलाइन वर्कर (frontline workers) मानकर कोरोना वैक्सीन के अभियान में प्राथमिकता देने की मांग जोर पकड़ने लगी है. द एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने गुरुवार को केंद्र सरकार से अपील की है कि पत्रकारों को अग्रिम पंक्ति का कर्मी घोषित किया जाए. ताकि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्राथमिकता के आधार पर उनका टीकाकरण सुनिश्चित किया जाए. द एडिटर्स गिल्ड ने एक बयान में कहा कि समाचार समूह लगातार महामारी, चुनाव और अन्य समसामयिक मामलों को कवर करने में जुटे हैं. इससे पाठकों तक खबरों और सूचनाओं की बिना रुकावट आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है.

समूह ने कहा, समाचार मीडिया आवश्यक सेवाओं में शामिल है, इसलिये यह उचित होगा कि पत्रकारों को संरक्षण के दायरे में लाया जाए, खासतौर पर संक्रमण के मामलों के बड़ी संख्या में बढ़ने को देखते हुए. इसमें कहा गया कि द एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया (ईजीआई) केंद्र सरकार से अनुरोध करता है कि पत्रकारों को अग्रिम पंक्ति का कर्मचारी घोषित किया जाए और अन्य अग्रिम पंक्ति के कर्मियों की तरह इन्हें भी टीकाकरण में प्राथमिकता दी जाए.


दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी कहा है कि पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर मानते हुए कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए उनका प्राथमिकता से टीकाकरण (Vaccination) किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि इस बारे में केंद्र सरकार को पत्र लिखा जा रहा है. सीएम केजरीवाल ने एक ट्वीट के जरिए यह जानकारी दी है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


खबरों की खबर : कोरोना की दूसरी लहर ज्यादा खतरनाक, कहां हुई चूक?



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)