'झूठी सरकार'- 'ऑक्सीजन की कमी से कोई मौतें नहीं' बयान पर जया बच्चन और महुआ मोइत्रा ने केंद्र को घेरा

विपक्ष कोरोनावायरस के मिसमैनेजमेंट के आरोप तो लगा ही रहा है, अब पेगासस स्पाईवेयर से जासूसी और फिर ऑक्सीजन की कमी से मौतों को लेकर सरकार के बयान ने और आग लगा दी है.

'झूठी सरकार'- 'ऑक्सीजन की कमी से कोई मौतें नहीं' बयान पर जया बच्चन और महुआ मोइत्रा ने केंद्र को घेरा

Deaths due to oxygen shortage : ऑक्सीजन की कमी से मौतों पर बयान से बवाल. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

संसद के मॉनसून सत्र में केंद्र की मोदी सरकार कई मुद्दों का सामना कर रही है. विपक्ष कोरोनावायरस के मिसमैनेजमेंट के आरोप तो लगा ही रहा है, अब पेगासस स्पाईवेयर से जासूसी और फिर ऑक्सीजन की कमी से मौतों को लेकर सरकार के बयान ने और आग लगा दी है. समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन और तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने आज कई मुद्दों पर सरकार को घेरा. 

जया बच्चन ने ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर कहा कि 'यह बहुत गलत हुआ है. कोरोना महामारी का मैनेजमेंट ठीक से नहीं हुआ. महाराष्ट्र सरकार ने अच्छे से संभाला है. महाराष्ट्र में कोरोनावायरस का मैनेजमेंट अच्छा हुआ है बाकी राज्यों को इससे सीखना चाहिए.' 

वहीं महुआ मोइत्रा ने इस विषय पर सवाल पूछे जाने पर कहा कि 'जिन राज्यों में बीजेपी की सरकार है जैसे उत्तर प्रदेश या मध्य प्रदेश, वहां भी आम जनता बेड और ऑक्सीजन के लिए तरसती रही. ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई इस मसले पर ना सिर्फ विपक्षी दल हंस रहे हैं बल्कि आम लोग भी समझ गए हैं कि यह झूठी सरकार है.' 

देश में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं? विपक्षी दलों ने केंद्र सरकार को घेरा, 10 बड़ी बातें

मोइत्रा ने कहा कि 'हम संसद में Pegasus Spyware और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों के सवाल को उठाएंगे.'


उन्होंने ममता बनर्जी के शहीद दिवस के कार्यक्रम पर कहा कि 'ममता बनर्जी ने इस कार्यक्रम के जरिए यह संदेश दिया है कि विपक्षी दलों को एकजुट होना चाहिए क्योंकि नए कृषि कानून, Pegasus स्पाइवेयर जैसे मामले सामने आए हैं जिससे भारतीय लोकतंत्र को खतरा पैदा हो गया है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जया बच्चन ने भी ममता बनर्जी के कार्यक्रम को लेकर उत्साह दिखाया और ममता बनर्जी को विपक्ष के लीडर के तौर पर देखने की उत्सुकता जताई है. कार्यक्रम को लेकर उन्होंने कहा कि यह अच्छी बात है और भी ऐसे कार्यक्रम होने चाहिए. उन्होंने इस सवाल पर कि 'क्या ममता बनर्जी को राष्ट्रीय राजनीति में सक्रिय होना चाहिए?' उन्होंने कहा कि 'बिल्कुल ... मैं चाहती हूं कि कोई महिला सामने आए.'