पुरी का जगन्नाथ मंदिर 4 माह बाद खुला, श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए इन शर्तों का करना होगा पालन

Puri Jagannath Temple reopens :श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए कोविड-19 का वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट ( COVID-19 vaccination certificate) लाना होगा या फिर निगेटिव आरटीपीसीआर टेस्ट (RT-PCR test ) रिपोर्ट देनी होगी.

पुरी का जगन्नाथ मंदिर 4 माह बाद खुला, श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए इन शर्तों का करना होगा पालन

जगन्नाथ मंदिर में पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं

भुवनेश्वर:

ओडिशा के पुरी शहर में भगवान जगन्नाथ मंदिर (Jagannath temple) को श्रद्धालुओं के लिए चार माह बाद फिर खोल दिया गया है. हालांकि मंदिर प्रबंधन ने श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए आने से जुड़ी कई शर्तों का पालन करने को कहा है. श्री जगन्नाथ टेंपल एडमिनिस्ट्रेशन (Shree Jagannatha Temple Administration) ने मंगलवार को यह जानकारी दी. शुरुआती दिनों में मंदिर में ज्यादा भीड़ पहुंचने की संभावना जताई जा रही है. ऐसे में सुरक्षा और कोविड-19 प्रोटोकॉल पर मंदिर प्रशासन द्वारा विशेष ध्यान दिया गया है.

मंदिर प्रबंधन के मुख्य प्रशासक कृष्ण कुमार ने कहा, मंदिर परिसर में पर्याप्त सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं, ताकि कोविड-19 की गाइडलाइन (COVID-19 protocols) का पालन करते हुए लोग पूजा अर्चना कर सकें. कुमार ने बताया कि श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए कोविड-19 का वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट ( COVID-19 vaccination certificate) लाना होगा या फिर निगेटिव आरटीपीसीआर टेस्ट (RT-PCR test ) रिपोर्ट देनी होगी. उन्हें साथ में एक पहचान पत्र भी लाना होगा.


कुमार ने कहा कि मंदिर को बड़े त्योहारों के दौरान बंद रखा गया था, ताकि कोई अप्रत्याशित भीड़ अंदर प्रवेश न कर सके औऱ कोविड-19 संक्रमण का कोई खतरा न पैदा हो. उन्होंने श्रद्धालुओं से कोरोना से जुड़ी गाइडलाइन का पूरी तरह पालन करने को कहा है और मंदिर प्रशासन का सहयोग करने की अपील भी की है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि इस साल ओडिशा के पुरी शहर में भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा भी सांकेतिक तौर पर निकाली गई थी. इसमें श्रद्धालुओं को शामिल होने की इजाजत नहीं दी गई थी. सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया गया था.