सपा के करीबी बिल्डर के नोएडा, दिल्ली सहित कई शहरों में 42 ठिकानों पर IT की छापेमारी

ACE रिएल एस्टेट के मालिक अजय चौधरी के ठिकानों पर बड़े पैमाने पर छापेमारी की जा रही है.

सपा के करीबी बिल्डर के नोएडा, दिल्ली सहित कई शहरों में 42 ठिकानों पर IT की छापेमारी

कई शहरों के 42 ठिकानों पर एक साथ की जा रही है.

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव नजदीक आने के साथ ही आयकर विभाग की छापेमारी तेज हो गई है. पहले इत्र कारोबारियों पर इनकम टैक्स की रेड हुई थी, आज आयकर विभाग की टीम ने सुबह एनसीआर के एक बड़े बिल्डर अजय चौधरी के ठिकानों पर छापेमारी की. ACE रियल एस्टेट के मालिक अजय चौधरी को सपा का करीबी माना जाता है. यह छापेमारी इस ग्रुप के नोएडा, दिल्ली, मुंबई और आगरा समेत कई शहरों के 42 ठिकानों पर एक साथ की जा रही है.

नोएडा के सेक्टर 126 स्थित ACE रियल एस्टेट के कॉरपोरेट ऑफिस पर मंगलवार सुबह करीब 7 बजे कई गाड़ियों में सवार होकर आयकर विभाग की 14 सदस्यीय टीम पहुंची और पूरे परिसर को अपने घेरे में ले लिया. कार्रवाई के दौरान आयकर विभाग की टीम ने ना तो कार्यालय से किसी को बाहर जाने दिया और नहीं अंदर जाने दे रहे हैं. उनके मोबाइल फोन आयकर विभाग के अधिकारियों ने अपने कब्जे में ले लिए. वहीं अकाउंट से संबंधित लोगों को फोन करके बुलाया गया है. इस छापेमारी की कार्रवाई को लेकर अभी तक किस किसी अधिकारी ने कोई बयान नहीं दिया है.

ACE रिएल एस्टेट के मालिक अजय चौधरी का नाम नोएडा के बड़े बिल्डरों में गिना जाता है. इसकी स्थापना 2010 में हुई थी, उस समय सपा की सरकार थी. ग्रुप ने तेजी से रियल एस्टेट के करोबार में अपनी जगह बनाई है. ACE प्लैटिनम, ACE सिटी, ACE एस्पायर और ACE गोल्फशायर जैसी आवासीय परियोजनाओं को पूरा किया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


 ACE ग्रुप ने वाणिज्यिक परियोजनाएं, जिनमें सिटी स्क्वायर और ACE स्टूडियो की भी स्थापना की है. ACE पार्कवे, ACE मेडले एवेन्यू और ACEडिविनो प्रोजेक्ट अभी चल रहे हैं. ACEग्रुप ने हाल ही में सेक्टर 150 में अपनी प्रीमियम आवासीय परियोजना, ACE पार्कवे के लिए सीमित संस्करण 3-4 बीएचके अल्ट्रा लग्जरी टावर "एक्स रेजिडेंस" लॉन्च किया है.