भारत में तीन हफ्ते में सबसे ज्‍यादा कोरोना केस दर्ज, R-वैल्‍यू ऊपर जाने से बढ़ी चिंता

मई माह में कोरोना की दूसरी लहर के चरम पर पहुंचने के दौरान देश में रोजाना के कोरोना केसों की संख्‍या चार लाख तक पहुंच गई थी लेकिन बाद में यह धीरे-धीरे कम होती गई.

भारत में तीन हफ्ते में सबसे ज्‍यादा कोरोना केस दर्ज, R-वैल्‍यू ऊपर जाने से बढ़ी चिंता

देश में हाल के कुछ दिनों में कोरोना के नए मामलों की संख्‍या बढ़ी है (प्रतीकात्‍मक फोटो)

नई दिल्ली:

Covif-19 Pandemic: भारत में कोरोना के नए मामलों (New Covid Cases in India) का ग्राफ कुछ ऊपर चढ़ा है. कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच देश में शुक्रवार को बीते 24 घंटों में 44,230 नए मामले दर्ज किए गए. पिछले तीन हफ्तों में एक दिन में आए यह कोरोना केसों की सबसे अधिक संख्‍या है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, भारत में पिछले 24 घंटे में 44,230 नए COVID-19 केस सामने आए हैं. वहीं, गुजरे 24 घंटों में 555 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है. अब तक देश में 4,23,217 लोगों की संक्रमण के चलते जान जा चुकी है. गौरतलब है कि मई माह में कोरोना की दूसरी लहर के चरम पर पहुंचने के दौरान देश में रोजाना के कोरोना केसों की संख्‍या चार लाख तक पहुंच गई थी लेकिन बाद में यह धीरे-धीरे कम होती गई. कोरोना के मामलों में अब फिर कुछ तेजी आई है जिसके चलते एक राज्‍य (केरल) में वीकेंड लॉकडाउन लागू करने पड़े हैं जबकि पूर्वोत्‍तर राज्‍यों में भी केसों की संख्‍या में केसों की संख्‍या बढ़ी है. 

COVID-19 : मिल सकती है कोविशील्ड और कोवैक्सीन की मिश्रित खुराक ! CDSCO ने स्टडी को दी मंजूरी

कोरोना के संक्रमण की रफ्तार को दर्शाने वाले R-वैल्‍यू (R-Value) भारत में बढ़ रही है. केरल और पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों में पिछले कुछ सप्‍ताह की तुलना में इसके इजाफा हुआ है. R' रेट यानी कि रि-प्रोडक्‍शन रेट. सरल शब्‍दों में कहें तो एक संक्रमित व्‍यक्ति से कितने लोग संक्रमित हो रहे हैं. यदि 'R' रेट 2.0 है तो यह दर्शाता है कि कोविड-19 से संक्रमित एक व्‍यक्ति औसत के रूप में अन्‍य दो लोगों को संक्रमित करेगा. ये दो लोगों में से प्रत्‍येक दो-दो अन्‍य लोगों को संक्रमित कर सकते हैं. इस तरह संक्रमण बढ़ते हुए सोसाइटी में महामारी का रूप ले सकती है. ऐसे में यह जरूरी है कि R-फैक्‍टर को कम से कम रखा जाए. 


कोविड 19 के नए स्वरूपों से लड़ने के लिए शक्तिशाली एंटीबॉडी तैयार, 1 हजार गुना अधिक रहेगा असर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


केरल में अब पिछले तीन दिन से 22 हजार के आसपास केस आ रहे हैं जो कि भारत के रोजाना के कोरोना केसों का करीब 37 प्रतिशत है है. दक्षिण के इस राज्‍य में R-वैल्‍यू 1.11 है.  केरल में कोरोना के केसों में हुए इस ताजा इजाफे के बीच केंद्र सरकार कोविड-19 प्रबंधन में राज्य के प्रयासों में मदद करने के लिए छह सदस्यीय दल को केरल भेज रही है. केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ना चिंताजनक है. मैं राज्य में हमारे भाइयों और बहनों से सभी सुरक्षा उपायों तथा दिशा निर्देशों का पालन करने की अपील करता हूं. कृपया ध्यान रखिए.'केरल के अलावा दक्षिण भारत के एक अन्‍य राज्‍य कर्नाटक में भी कोरोना केसों की संख्‍या बढ़ी है. कर्नाटक में गुरुवार को 2052 कोरोना केस दर्ज किए गए जो कि बुधवार को दर्ज 1531 केसों की तुलना में करीब 34 फीसदी ज्‍यादा हैं. राजधानी बेंगलुरू में 505 केस दर्ज किए गए हैं.स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, शुक्रवार को बीते 24 घंटों में 44,230 नए मामले दर्ज किए गए. इसके साथ ही बीते 24 घंटे के दौरान 42,360 मरीज ठीक हुए हैं जबकि अब तक देश में कुल 3,07,43,972 लोग महामारी के कहर से निकलने में कामयाब रहे हैं. फिलहाल, रिकवरी रेट 97.38 प्रतिशत है. पिछले 24 घंटे में नए मामलों के मुकाबले ठीक होने वाले मरीजों की संख्या कम रही. देश में एक्टिव केस वर्तमान में 4,05,155 है, जो कुल मामलों का 1.28 प्रतिशत है.