किन्नौर हादसा: मलबे से 2 और शव निकले, अब तक 15 की मौत, सुबह 4 बजे फिर शुरू हुआ बचाव कार्य

किन्नौर जिले के निचार तहसील के निगुलसारी क्षेत्र के चौरा गांव के पास राष्ट्रीय राजमार्ग पांच पर बुधवार की दोपहर को भूस्खलन के बाद पहाड़ से गिरे पत्थरों की चपेट में हिमाचल सड़क परिवहन निगम (एचआरटीसी) की एक बस आ गई थी, जो रिकांग पियो से शिमला होते हुए हरिद्वार जा रही थी.

किन्नौर हादसा: मलबे से 2 और शव निकले, अब तक 15 की मौत, सुबह 4 बजे फिर शुरू हुआ बचाव कार्य

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में भूस्खलन के बाद हुए हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 15 हो गई है.

नई दिल्ली:

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में भूस्खलन (Kinnaur Landslide) के बाद हुए हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 15 हो गई है. आज सुबह 4 बजे फिर से शुरू किए गए खोज और बचाव कार्य में राहत दल ने मलबे से दो और शव निकाले. खोज और बचाव दल द्वारा अब तक कुल 15 शव निकाले जा चुके हैं. अब तक 13 लोगों को सुरक्षित निकाला जा चुका है.

राज्य आपदा प्रबंधन निदेशक सुदेश कुमार मोख्ता ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी), पुलिस और होमगार्ड द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा बचाव कार्य सुबह 4 बजे फिर शुरू हुआ. अधिकारियों ने गुरुवार रात करीब 10 बजे अभियान स्थगित कर दिया था.

उन्होंने कहा कि कुछ वाहनों के साथ ही मलबे में हिमाचल सड़क परिवहन निगम (एचआरटीसी) की एक बस भी दब गई थी. उन्होंने बताया कि बस बुरी तरह क्षतिग्रस्त हालत में मिली है जबकि एक ‘बोलेरो' वाहन का अब तक पता नहीं चल सका है और आशंका जतायी जा रही है कि वह मलबे के साथ ही नीचे चला गया है.

Himachal Landslide: मलबे में दबा था शख्स, देवदूत बन ITBP के जवानों ने बचाया.. देखें Video

राज्य के मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये देगी. उन्होंने कहा कि मृत बस यात्रियों के परिजनों को परिवहन विभाग द्वारा एक लाख रुपये दिए जाएंगे और घायलों का मुफ्त इलाज कराया जाएगा. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इलाके का भूगर्भीय सर्वेक्षण भी करेगी. इस बीच, किन्नौर भूस्खलन में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए राज्य विधानसभा में कुछ समय का मौन रखा गया.


जब हिमाचल के किन्नौर में देखते-देखते ढह गया पहाड़, VIDEO आया सामने

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


किन्नौर जिले के निचार तहसील के निगुलसारी क्षेत्र के चौरा गांव के पास राष्ट्रीय राजमार्ग पांच पर बुधवार की दोपहर को भूस्खलन के बाद पहाड़ से गिरे पत्थरों की चपेट में हिमाचल सड़क परिवहन निगम (एचआरटीसी) की एक बस आ गई थी, जो रिकांग पियो से शिमला होते हुए हरिद्वार जा रही थी.