गुजरात कभी बंगाल पर शासन नहीं कर पाएगा, हम भारी बहुमत से वापसी करेंगे : ममता बनर्जी

ममता ने विधानसभा में लेखानुदान मांगे पेश करते हुए कहा कि ‘निर्मम सरकार’ तो केंद्र की है, जिसने अम्फन तूफान के दौरान राज्य को मामूली रकम दी थी. 

गुजरात कभी बंगाल पर शासन नहीं कर पाएगा, हम भारी बहुमत से वापसी करेंगे : ममता बनर्जी

ममता बनर्जी ने PM Modi के आरोपों का दिया जवाब

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) द्वारा हल्दिया में रैली के दौरान लगाए गए आरोपों का जवाब दिया है. ममता ने विधानसभा में लेखानुदान मांगे पेश करते हुए कहा कि ‘निर्मम सरकार' तो केंद्र की है, जिसने अम्फन तूफान के दौरान राज्य को मामूली रकम दी थी. 

यह भी पढ़ें- 'ममता बनर्जी की सरकार में कम्युनिस्ट शासन का पुनर्जन्म हुआ' :बंगाल दौरे में बोले पीएम मोदी

पीएम मोदी ने चुनावी रैली में ममता पर निर्ममता से सरकार चलाने का आरोप लगाया था. ममता ने कहा का कि ‘गुजरात कभी भी बंगाल पर शासन नहीं कर पाएगा. '16वीं  बंगाल विधानसभा के सत्र के समापन पर बनर्जी ने लेखानुदान को लेकर विपक्ष पर निशाना साधा. विपक्ष ने कहा कि ऐसा चुनाव पर नजर रखते हुए किया गया है.

ममता बनर्जी ने कहा कि जैसा कि विपक्ष कह रहा है, यदि लेखानुदान वैसा ही है तो उसमें समस्या कहां है? यह लोगों के लिए कल्याण के लिए है. जो कह रहे हैं कि हम महज चंद दिनों के लिए हैं. उन्हें बता दूं कि हम विधानसभा चुनाव में बड़े जनादेश के साथ लौटेंगे. ममता बनर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में चुनाव करीब हैं, ऐसे में जान पड़ता है कि भाजपा के लिए बंगाल छोड़ कर कुछ है ही नहीं. उसके सारे नेता एवं मंत्री बंगाल में उन स्थानों पर आ रहे हैं, जिनके बारे में उन्हें कुछ भी पता नहीं है.

उन्होंने पीएम मोदी और अमित शाह की यात्रा की ओर इशारा करते हुए कहा कि गुजरात कभी बंगाल पर शासन नहीं कर पाएगा. अमित शाह इस सप्ताह के अंत में बंगाल की यात्रा पर आने वाले हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि विनाशकारी चक्रवात अम्फान के बाद बंगाल की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बस 1000 करोड़ रुपये की घोषणा की थी. वह राशि भी अग्रिम के तौर पर दी गई. ममता ने कहा, मैंने कभी ऐसी निर्मम सरकार नहीं देखी. हमें चक्रवात अम्फान और कोविड-19 के चलते उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए पिछले बजट से 2542 करोड़ रुपये से भी अधिक खर्च करने पड़े .

अम्फान के बाद राहत वितरण में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार के विपक्ष के आरोप पर ममता बनर्जी ने माना कि कुछ गलतियां हुईं लेकिन उन्हें सही कर लिया गया. मुख्यमंत्री ने कहा कि दो दिन में वह 72, 200 करोड़ रुपये की 19 परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगी. इससे 3.2 लाख लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे. लेखानुदान और अनुपूरक बजट को पारित करने के बाद विधानसभा का सत्र समाप्त हो गया. पांच फरवरी को लेखानुदान सदन में पेश किया गया था.


(Except for the headline, this story has not been edited by NDTV staff and is published from a press release)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com