राजस्थान में बालू माफिया और राजस्थान पुलिस के बीच हुई मुठभेड़, गोलियां चलीं

राजस्थान पुलिस के सूत्रों का कहना है कि खबर मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और अवैध खनन से लदी इन ट्रैक्टर ट्रालियों को घेर लिया. पुलिस को आता खनन माफिया बालू से लदी ट्रालियां लेकर भागे और पुलिसकर्मियों पर फायरिंग शुरू कर दी.

राजस्थान में बालू माफिया और राजस्थान पुलिस के बीच हुई मुठभेड़, गोलियां चलीं

Illegal sand mining

मुरैना:

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh Police) और राजस्थान (Rajasthan Police) के सीमावर्ती जिलों में अवैध खनन (Illegal sand mining) बड़ा सिरदर्द बना हुआ है. पुलिस और प्रशासनिक एजेंसियों के तमाम प्रयासों के बावजूद उन पर लगाम नहीं लग पा रही है. खनन माफिया के हौसले इस कदर बुलंद हैं कि वे पुलिस पर हमला करने से नहीं चूकते.ऐसा ही वाकया राजस्थान की सागरपाड़ा पुलिस चेकपोस्ट के पास हुआ. पुलिस को सूचना मिली थी कि मध्य प्रदेश के मुरैना जिले से अवैध खनन से लदी बालू के ट्रैक्टर धौलपुर की ओऱ बढ़ रहे हैं.


राजस्थान पुलिस के सूत्रों का कहना है कि खबर मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और अवैध खनन से लदी इन ट्रैक्टर ट्रालियों को घेर लिया. पुलिस को आता खनन माफिया बालू से लदी ट्रालियां लेकर भागे और पुलिसकर्मियों पर फायरिंग शुरू कर दी. हालांकि उबड़खाबड़ रास्ता होने के बावजूद पुलिस एक ट्रॉली के ड्राइवर देवेंद्र गुर्जर को दबोचने में कामयाब रही. उसके पास से एक कट्टा और पांच कारतूस भी बरामद किए गए हैं. हालांकि बाकी ट्रालियां और उन पर सवार अवैध खनन के आऱोपी मौके से फरार होने में सफल रहे. उनकी तलाश में पुलिस जुट गई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि अवैध खनन मध्य प्रदेश और राजस्थान के सीमावर्ती इलाकों में पुलिस के लिए हमेसा सिरदर्द रहा है. मध्य प्रदेश और राजस्थान की पुलिस की ओर से कई बार अवैध खनन माफियाओं के खिलाफ अभियान भी चलाए गए हैं, लेकिन इस पर पूरी तरह लगाम नहीं लग पा रही है. सरकार के कई मंत्रियों की ओर से भी अवैध खनन के खिलाफ आवाज उठाई गई है.