उपचुनाव से पहले LJP का चुनाव चिन्ह फ्रीज, चिराग और पशुपति दोनों ही नहीं कर सकेंगे इस्तेमाल

चिराग पासवान और उनके केंद्रीय मंत्री चाचा पशुपति पारस के बीच विवाद के परिणामस्वरूप चुनाव आयोग ने लोक जनशक्ति पार्टी के नाम और चुनाव चिह्न पर रोक लगा दी है.

नई दिल्ली:

बिहार (Bihar) के नेता चिराग पासवान (Chirag Paswan) और उनके केंद्रीय मंत्री चाचा पशुपति पारस (Pashupati Paras) के बीच विवाद के परिणामस्वरूप चुनाव आयोग ने लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के नाम और चुनाव चिह्न (बंगला) पर रोक लगा दी है. चुनाव आयोग का यह कदम इस महीने के अंत में बिहार में दो सीटों पर होने वाले उपचुनाव से पहले आया है.

यह कदम कुशेश्वर अस्थान और तारापुर सीटों पर 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव से पहले आया है. चुनाव आयोग ने दोनों पक्षों के प्रतिस्पर्धी दावों का जवाब देते हुए कहा कि चुनाव चिन्ह और दल के नाम पर यही स्थिति बनी रहेगी, जब तक यह तय नहीं हो जाता कि पार्टी के अधिकांश सदस्यों का समर्थन किसके पास है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पासवान और पारस को सोमवार दोपहर 1 बजे तक उपचुनाव के लिए अलग-अलग नाम और चुनाव चिह्न देने को कहा गया है.