चुनाव आयोग ने भाजपा के मुफ्त कोरोना वैक्सीन के चुनावी वादे को क्यों आचार संहिता का उल्लंघन नहीं माना, जानिए वजह

Bihar assembly Election 2020 : भाजपा ने अपने घोषणापत्र में बिहार की जनता के लिए मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा किया था. साथ ही 19 लाख रोजगार देने का संकल्प भी जताया था.

चुनाव आयोग ने भाजपा के मुफ्त कोरोना वैक्सीन के चुनावी वादे को क्यों आचार संहिता का उल्लंघन नहीं माना, जानिए वजह

Bihar assembly Election 2020 : विपक्षी दलों ने भाजपा की आलोचना की थी.

नई दिल्ली:

चुनाव आयोग (Election Commission) ने बिहार में (Bihar Election 2020) भाजपा के मुफ्त कोरोना वैक्सीन (Free Covid Vaccine )के चुनावी वादे को आचार संहिता का उल्लंघन नहीं माना है. विपक्षी दलों ने भाजपा (BJP) के इस वादे को लेकर शिकायत दर्ज कराई थी.

आयोग ने आचार संहिता से जुड़े एक प्रावधान का उल्लेख करते हुए कहा, शासन की नीति से संविधान में उल्लिखित नीति निर्देशक सिद्धांत राज्य को यह अनुमति देते हैं कि वह नागरिकों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चलाए, लिहाजा चुनावी घोषणापत्र में ऐसे कल्याणकारी वादों को लेकर कोई आपत्ति नहीं की जा सकती.भाजपा (BJP) ने अपने घोषणापत्र में बिहार की जनता के लिए मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा किया था. साथ ही 19 लाख रोजगार देने का संकल्प भी जताया था.

आरटीआई (RTI) कार्यकर्ता साकेत गोखले की शिकायत का जवाब देते हुए आयोग (Election Commission) ने कहा कि उसे इस मामले में चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का कोई कारण नहीं दिखता. इसमें आचार संहिता (Model Code of Conduct)) के किसी प्रावधान का उल्लंघन नहीं पाया गया है. गोखले ने इसे भेदभावपूर्ण और चुनाव के दौरान केंद्र सरकार की शक्तियों का दुरुपयोग करार दिया था. सूत्रों के अनुसार, आदर्श आचार संहिता के आठवें भाग में चुनावी घोषणापत्र (Election Manifesto) संबंधित गाइडलाइन के कुछ अंशों का उदाहरण देते हुए पाया है कि मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा आचार संहिता का उल्लंघन नहीं करता.


आयोग ने प्रावधानों को उद्धृत करते हुए कहा कि जनता से ऐसे वादे कर भरोसा जीता जा सकता है, जिन्हें पूरा किया जाना संभव हो. राजनीतिक दलों और नेताओं द्वारा इसी कारण चुनाव के दौरान घोषणापत्र जारी किए जाते हैं. गोखले ने ट्विटर पर शुक्रवार को प्रतिक्रिया में कहा, "चुनाव आयोग ने इस तथ्य को नजरअंदाज कर दिया कि केंद्र सरकार ने राज्य विशेष के लिए इसकी घोषणा की है और जब इस तरह से चुनावी माहौल को बिगाड़ा जाता है तो कार्रवाई की जानी चाहिए."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि वित्त मंत्री और भाजपा नेता निर्मला सीतारमण ने इस महीने की शुरुआत में बिहार चुनाव के लिए भाजपा का घोषणापत्र जारी किया था. इसमें बिहार की जनता के लिए मुफ्त कोरोना वैक्सीन का संकल्प भी शामिल था. विपक्षी दल कांग्रेस और राजद ने ऐसे वादे को लेकर भाजपा पर निशाना साधा था. विरोधी नेताओं का आरोप है कि सत्ता पक्ष राजनीतिक फायदे के लिए महामारी का भी इस्तेमाल कर रहा है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)