रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल जारी रहेगी, दिल्ली पुलिस से माफी की मांग समेत रखी दो शर्तें

डॉक्टरों के आंदोलन से केंद्र द्वारा संचालित तीन अस्पतालों - सफदरजंग, आरएमएल और लेडी हार्डिंग अस्पतालों के साथ ही दिल्ली सरकार के कुछ अस्पतालों में मरीजों का इलाज प्रभावित हुआ है.

रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल जारी रहेगी, दिल्ली पुलिस से माफी की मांग समेत रखी दो शर्तें

डॉक्‍टर ने मंगलवार को अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन भी किया

नई दिल्‍ली :

Delhi Resident Doctors Strike : नीट-पीजी काउंसिलिंग (NEET PG counseling) में देरी को लेकर दिल्ली में रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल जारी रहेगी. पहले यह कहा जा रहा था कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया से मुलाकात के बाद डॉक्टरों की हड़ताल खत्म हो सकती है. जूनियर डॉक्टर पोस्टग्रेजुएट मेडिकल स्टूडेंट को कॉलेज आवंटन में देरी का विरोध कर रहे हैं. प्रदर्शनकारी डॉक्टरों का कहना है कि नेशनल एलिजबिलिटी कम एंट्रेस टेस्ट या नीट के बाद काउंसिलिंग और कॉलेज आवंटन में देरी को लेकर चिंतित हैं. लेकिन फिलहाल रेजिडेंट डॉक्टरों ने कहा कि नीट-पीजी काउंसिलिंग की बात को अभी परे रख दें तो अभी हमारी दो मुख्य मांगे हैं- पहली दिल्ली पुलिस अपनी गलत कार्रवाई के लिए माफी मांगे, साथ ही डॉक्टरों के खिलाफ दर्ज सारे केस वापस लिए जाएं. 

फेडरेशन ऑफ रेंजीडेंट डॉक्‍टर्स एसोसिएशन (FORDA) रात करीब 8:30 बजे बैठक कर मामले में आगे की रणनीति का ऐलान किया. FORDA नेता ने सफदरजंग अस्पताल में डॉक्टर्स को संबोधित किया. उन्‍होंने बताया कि हमारी केवल दो मांगें हैं. पहली डिमांड यह है कि  6 जनवरी को कोर्ट सुनवाई में सरकार की तरफ से काउंसिलिंग के लिए प्रयास होने चाहिए. 6  जनवरी को सुप्रीम कोर्ट में काउंसिलिंग डेट आएगी, यह आश्‍वासन दिया गया है.

इसके साथ ही पुलिस करवाई पर खेद जताया गया है. पुलिस भी इस मामले में माफी मांगेगी. FORDA नेता ने इसके साथ ही कहा कि अगर सुप्रीम कोर्ट की 6 जनवरी की सुनवाई  में काउंसिलिंग डेट नहीं आएगी तो हम फिर स्ट्राइक करेंगे. 

गौरतलब है कि डॉक्टरों के आंदोलन से केंद्र द्वारा संचालित तीन अस्पतालों - सफदरजंग, आरएमएल और लेडी हार्डिंग अस्पतालों के साथ ही दिल्ली सरकार के कुछ अस्पतालों में मरीजों का इलाज प्रभावित हुआ है. फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन पिछले कई दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रहा है. दरअसल,  NEET-PG काउंसिलिंग में देरी के विरोध में दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे डॉक्टर और दिल्ली पुलिस आमने-सामने आ गए थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल से डॉक्टर मार्च निकालना चाह रहे थे, लेकिन दिल्ली पुलिस ने सभी गेट बंद कर दिए. दिल्ली के सभी मेडिकल कॉलेज के रेजिडेंट डॉक्टरों को सफदरजंग अस्पताल बुलाया गया था. डॉक्टर सफदरगंज से सुप्रीम कोर्ट तक मार्च निकालने वाले थे. सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई चल रही है. पिछले एक साल से एडमिशन के लिए काउंसिलिंग बंद है. बता दें, सोमवार को पुलिस के साथ झड़प हो गई थी. यह हंगामा देर रात तक सड़क पर चलता रहा. इसके विरोध में मंगलवार को एक बार फिर डॉक्टरों ने मार्च बुलाया था.