दिल्ली में सोमवार से खुलेंगे स्कूल और कॉलेज, प्रदूषण के चलते किए गए थे बंद

27 नवंबर से 3 दिसंबर तक गैर जरूरी सेवाओं में लगे सीएनजी और इलेक्ट्रिक वाहनों को ही एंट्री होगी. यह छूट गैर-ज़रूरी सेवाओं में इस्तेमाल होने वाले उन वाणिज्यिक वाहनों को दी गई है, जो CNG या बैटरी से चालित होते हैं. पेट्रोल तथा डीज़ल से चलने वाले वाहनों पर दिल्ली में प्रवेश पर लागू प्रतिबंध पहले की ही तरह बरकरार रहेगा.

दिल्ली में सोमवार से खुलेंगे स्कूल और कॉलेज, प्रदूषण के चलते किए गए थे बंद

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के चलते स्‍कूल बंद करने का फैसला लिया गया था (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली :

देश की राजधानी दिल्ली में 29 नवंबर से स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान खोले जाएंगे. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने यह जानकारी दी. गौरतलब है कि दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के चलते स्‍कूल बंद किए गए थे. इसके अलावा दिल्ली सरकार के सभी दफ़्तर 29 नवंबर से खुल जाएंगे. उन्‍होंने बताया कि 27 नवंबर से 3 दिसंबर तक गैर जरूरी सेवाओं में लगे सीएनजी और इलेक्ट्रिक वाहनों को ही एंट्री होगी. यह छूट गैर-ज़रूरी सेवाओं में इस्तेमाल होने वाले उन वाणिज्यिक वाहनों को दी गई है, जो CNG या बैटरी से चालित होते हैं. पेट्रोल तथा डीज़ल से चलने वाले वाहनों पर दिल्ली में प्रवेश पर लागू प्रतिबंध पहले की ही तरह बरकरार रहेगा.

यह छूट गैर-ज़रूरी सेवाओं में इस्तेमाल होने वाले उन वाणिज्यिक वाहनों को दी गई है, जो CNG या बैटरी से चालित होते हैं. पेट्रोल तथा डीज़ल से चलने वाले वाहनों पर दिल्ली में प्रवेश पर लागू प्रतिबंध पहले की ही तरह बरकरार रहेगा.

कोविड के बाद अब प्रदूषण बना नई मुसीबत, अस्पतालों में 45% बढ़े एलर्जी के मरीज

गौरतलब है कि दिल्‍ली में प्रदूषण के गंभीर स्थिति में पहुंचने के चहले 17 नवंबर को  स्कूल-कॉलेज अगले आदेश तक बंद कर दिए गए थे. साथ ही सरकारी विभाग में 100 प्रतिशत वर्क फ्रॉम होम (WFH) लागू कर दिया गया था.दिल्‍ली और इसके आसपास के इलाकों में दिनों दिन बिगड़ रही हवा की गुणवत्ता को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और दिल्‍ली सरकार को आड़े हाथों लिया है. 

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना : पहली ट्रेन इस तारीख को जाएगी अयोध्या, रजिस्ट्रेशन शुरू


बुधवार की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने दो टूक अंदाज में कहा, 'हम मामले को बंद नहीं करेंगे. हालात की समीक्षा करते रहेंगे. पराली प्रबंधन पर रिपोर्ट सरकारें रिपोर्ट दें. स्थिति बिगड़ने के बाद नहीं, पूर्वानुमान से काम करें.नौकरशाही को सक्रिय रहना चाहिए.' CJI ने केंद्र से पूछा कि आप बताइए क्या किया गया. आपने बताया था कि 21 नवंबर से हालात ठीक होंगे. तेज हवा की वजह से हम बच गए हैं लेकिन मौसम विभाग की खबर थी कि आज शाम से फिर गंभीर हो सकते हैं. प्रधान न्‍यायाधीश (CJI) ने कहा,  'आपको पराली जलाने को रोकने के लिए प्रबंधन करना होगा वरना ये बड़ी समस्या बन जाएगी.'

मुंबई में भी बढ़ा प्रदूषण, अस्पतालों में बढ़ रहे मरीज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com