'नए कोरोना वैरिएंट से प्रभावित जगहों से आने वाली फ्लाइटों पर लगे रोक' : PM मोदी से बोले केजरीवाल

उन्होंने चिट्ठी में लिखा है कि कोरोना के नए वैरिएंट को भारत में घुसने से रोकने के लिए हम सभी को हर संभव प्रयास करना चाहिए.

नई दिल्ली:

दक्षिण अफ्रीका ( South Africa) में मिले कोरोना के नए वैरिएंट ने दुनिया में चिंता बढ़ा दी है. इसको लेकर भारत में भी काफी सतर्कता बरती जा रही है. वहीं अब इसको लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ( CM Arvind Kejriwal) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है. उन्होंने चिट्ठी में लिखा है कि कोरोना के नए वैरिएंट को भारत में घुसने से रोकने के लिए हम सभी को हर संभव प्रयास करना चाहिए. यूरोप समेत कई देशों ने कोरोना के नए वैरिएंट से प्रभावित इलाकों में यात्रा पर रोक दी है. भारत में भी इस वैरिएंट से प्रभावित जगहों से आने वाली फ्लाइट पर रोक लगा दी जानी चाहिए.  इस संबंध में थोड़ी भी देरी नुकसानदेह साबित हो सकती है.

कोरोना के नए वैरिएंट से संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा, WHO ने स्ट्रेन को ओमिक्रॉन नाम दिया

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने एक बैठक में विदेशों से आने वालों की निगरानी करने और जोखिम वाले देशों पर ध्‍यान देने के साथ मौजूदा दिशा-निर्देशों के आधार पर कोविड टेस्‍ट कराने की बात कही थी. उन्‍होंने अधिक सतर्क रहने और मास्किंग और सोशल डिस्टेंसिंग जैसी उचित सावधानी बरतने की जरूरत भी बताई थी. 

दुनिया के कई देशों में कोरोना का नया वेरिएंट सामने आया, सभी राज्यों को केंद्र ने दी सतर्क रहने की हिदायत

बता दें कि यह वैरिएंट सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में मिला था. वैज्ञानिकों ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि संक्रमण की दर बहुत तेज हो सकती है और मरीजों में गंभीर लक्षण विकसित हो सकते हैं. वैज्ञानिकों का मानना है कि इस नए वैरिएंट में कम से कम 10 म्यूटेशन हैं. जबकि डेल्टा में सिर्फ दो तरह के म्यूटेशंस पाए गए थे. म्यूटेट होने का मतलब है वायरस के जेनेटिक मटेरियल में बदलाव होना. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की एक समिति ने कोरोना वायरस के इस नये स्वरूप को ‘ओमीक्रॉन' नाम दिया है और इसे ‘बेहद संक्रामक चिंताजनक स्वरूप' करार दिया है.

कोरोना के नए वेरिएंट से हड़कंप, जानिए कितना है खतरनाक और भारत उठा रहा है क्‍या कदम


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com