''आन्दोलनकारियों को लाल किले से दूर रहना चाहिए था'' : किसानों द्वारा प्रदर्शन पर बोले संस्कृति मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल

किसानों का आंदोलन बेकाबू होने पर केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने ट्विटर पर प्रतिक्रिया दी.

''आन्दोलनकारियों को लाल किले से दूर रहना चाहिए था'' : किसानों द्वारा प्रदर्शन पर बोले संस्कृति मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल

केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल - फाइल फोटो

नई दिल्ली:

तीन कृषि कानूनों के विरोध में गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों की आज ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) हुई. किसानों ने सिंघु और टिकरी बॉर्डर पर बैरिकेड्स तोड़ दिए. किसान दिल्ली के आईटीओ और फिर लालकिला तक पहुंच गए. लालकिले के भीतर जाकर भी हंगामा हुआ. वहां किसानों ने एक और झंडा फहराया. किसानों का आंदोलन बेकाबू होने पर केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने ट्विटर पर प्रतिक्रिया दी है.

प्रहलाद सिंह पटेल ने ट्वीट करके लिखा, ''लाल किला हमारे लोकतंत्र की मर्यादा का प्रतीक है, आन्दोलनकारियों को लाल किले से दूर रहना चाहिए था. इसकी मर्यादा उल्लंघन की मैं निंदा करता हूं. यह दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है.''


बता दें कि गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में हो रही किसानों की ट्रैक्टर रैली को लेकर स्थिति अस्थिर हो गई. ट्रैक्टर रैली को लेकर सेंट्रल दिल्ली में घुस चुके किसान लाल किले तक पहुंच गए और यहां पर कुछ प्रदर्शनकारियों को दूसरा झंडा फहराते हुए देखा गया. प्रदर्शन कर रहे हजारों ट्रैक्टर लाल किले पर पहुंचे. यहां बड़ी संख्या में किसान भी मौजूद थे. लाल किले पर झंडा फहराने के बाद किसान वापस निकल गए हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


किसानों को आज दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालनी थी, जिसके लिए पूरी योजना बनाई गई थी, लेकिन पहले सिंघु और टिकरी बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने पुलिस बैरिकेडिंग तोड़ दी और वक्त से पहले ही रैली शुरू कर दी. कई जगहों पर किसान संगठनों ने तय रूट से अलग रास्ता भी ले लिया. इसके बाद किसानों की कई जगहों पर पुलिस के साथ झड़प हुई.