'दिल्ली में छलांग मार रहे कोरोना के मामले, लेकिन आपको चिंता नहीं करनी': अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में 29 दिसम्बर को कोविड के 923 मामले सामने आए थे जो, 30 को बढ़कर 1313, 31 दिसंबर को 1796 और 1 जनवरी को 2716 केस हो गए. उन्होंने कहा कि आज शाम तक यह आंकड़ा बढ़कर करीब 3100 हो जाएगा.

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Corona Virus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और कोविड संक्रमितों का आंकड़ा छलांग मार रहा है लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) ने लोगों से चिंता नहीं करने को कहा है. उन्होंने आज (रविवार, 2 जनवरी) को एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स में लोगों से पैनिक नहीं होने की अपील की. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में 29 दिसम्बर को कोविड के 923 मामले सामने आए थे जो, 30 को बढ़कर 1313, 31 दिसंबर को 1796 और 1 जनवरी को 2716 केस हो गए. उन्होंने कहा कि आज शाम तक यह आंकड़ा बढ़कर करीब 3100 हो जाएगा. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में अभी एक्टिव केसेज 6360 हैं, जो 3 दिन में 3 गुना बढ़ गए हैं.

उन्होंने कहा कि जो लोग कोरोना से बीमार हो रहे हैं, उन्हें अस्पताल जाने की जरूरत नहीं पड़ रही है. मुख्यमंत्री ने बताया कि अधिकांश माइल्ड केसेज हैं या बिना लक्षण वाले हैं. केजरीवाल ने कहा कि 29 दिसम्बर को हॉस्पिटल में 262 ऑक्यूपेंसी थी, जो 3 दिन बाद घटकर 247 हो गई है. उन्होंने बताया कि दिल्ली के अस्पतालों में आज की तारीख में केवल 82 ऑक्सीजन बेड ही ऑक्युपाइड हैं, और कोई भी मरीज ऐसा नहीं आ रहा जिसको ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है.

भारत में थम नहीं रहा Omicron, 23 राज्यों में कुल 1525 मामले, टॉप पर ये पांच राज्य

उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार ने अस्पतालों में 37 हजार बेड्स की तैयारी कर रखी है लेकिन सिर्फ 0.22 फीसदी बेड्स पर ही अभी मरीज बर्ती हैं. उन्होंने बताया कि पिछले साल अप्रैल में जब दूसरी वेब आई थी, और दिल्ली में 27 मार्च को करीब 6600 केस थे, तब अस्पतालों में 1150 बेड्स ऑक्युपाइड थे, लेकिन आज 82 बेड्स ऑक्युपाइड हैं, तब 182 वेंटिलेटर पर थे, लेकिन आज 5 हैं. तब रोजाना करीब 10 मौतें हो रही थीं, लेकिन आज कभी 1 कभी 0 मौत हो रही है.

दिल्‍ली: 15-18 आयु के बच्‍चों के कोरोना वैक्‍सीनेशन के लिए 159 सेंटर, कल से शुरू होना है टीकाकरण

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मुख्यमंत्री ने बताया कि ये आंकड़े इसलिए बताए ताकि लोग पैनिक न हों. उन्ईहोंने कहा कि पैनिक होने की जरूरत नहीं है, बल्कि जिम्मेदार रहना है, सोशल डिस्टेन्सिंग करनी है और मास्क पहनने हैं. केजरीवाल ने कहा, "आपकी सरकार पूरी तरह से तैयार है, आपके साथ खड़ी है."