कोरोना वैक्‍सीनेशन की नई गाइडलाइंस के बाद लगातार दूसरे दिन अब तक 51 लाख लोगों को लगा टीका

देश में कोरोना के टीकाकरण अभियान को जबर्दस्‍त रफ्तार मिली है. कोरोना वैक्‍सीनेशनल की नई गाइडलाइंस आने के बाद लगातार दूसरे दिन, मंगलवार को अब तक 51 लाख लोगों को टीका लग चुका है.

कोरोना वैक्‍सीनेशन की नई गाइडलाइंस के बाद लगातार दूसरे दिन अब तक 51 लाख लोगों को लगा टीका

टीकाकरण महाअभियान के पहले दिन सोमवार को देशभर में 86 लाख से ज्यादा टीके दिए गए थे.

नई दिल्ली:

देश में कोरोना के टीकाकरण अभियान को जबर्दस्‍त रफ्तार मिली है. कोरोना वैक्‍सीनेशनल की नई गाइडलाइंस आने के बाद लगातार दूसरे दिन, मंगलवार को अब तक 51 लाख लोगों को टीका लग चुका है. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री ने देश के नाम संबोधन में अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस से सभी आयुवर्ग के लिए टीका मुफ्त में लगाए जाने का ऐलान किया था. टीकाकरण महाअभियान (Vaccination Mega Drive) के पहले दिन सोमवार को देशभर में 86 लाख से ज्यादा टीके दिए गए थे. यह एक दिन में टीकों का अब तक का रिकॉर्ड है. पिछले 24 घंटों में देशभर में टीके (Vaccine) की 86.16 लाख से अधिक खुराक दी गईं. गत 16 जनवरी से शुरू हुए टीकाकरण अभियान के बाद से एक दिन में टीके की सबसे अधिक खुराक लगाई गई है. सरकारी वेबसाइट CoWin पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, सोमवार को कुल 86,16,373 टीके दिए गए. इससे पहले, 2 अप्रैल को 42 लाख 61 हजार से ज्यादा वैक्सीन डोज लगाई गई थीं.


पीएम  नरेंद्र मोदी ने कोविड रोधी टीके की रिकॉर्ड संख्या में खुराक लगाए जाने को ‘‘हर्षित करने वाला'' कार्य करार दिया था. उन्होंने सोमवार को अपने ट्वीट में लिखा , "आज रिकॉर्ड संख्या में हुआ टीकाकरण हर्षित करने वाला है. कोविड-19 से लड़ाई में टीका हमारा सबसे मजबूत हथियार बना हुआ है. जिन लोगों का टीकाकरण हुआ, उन्हें बधाई और अग्रिम पंक्ति के वे सभी कर्मी प्रशंसा के पात्र हैं, जिन्होंने इतने लोगों का टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत की.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने राज्यों को 18 से ऊपर के लोगों के लिए मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध करवाना शुरू किया है. केंद्र सरकार ने इससे पहले 1 मई को वैक्सीनेशन नीति में बदलाव किया था. हालांकि, राज्यों को भारतीय वैक्सीन कंपनियों से केंद्र के मुकाबले ज्यादा दामों पर टीके की पेशकश करने पर सवाल उठे. राज्यों को विदेश से वैक्सीन खरीद में भी कामयाबी नहीं मिली. इसके बाद पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैक्सीनेशन का पूरा भार केंद्र द्वारा उठाने का ऐलान किया.