Covid-19: देश में पिछले 24 घंटे में सामने आए 7,579 नए केस, 543 दिनों में सबसे कम मामले

पिछले 24 घंटे में 12,202 लोग कोरोना से ठीक हुए अब तक कुल  3,39,46,749 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं. डेली पोजिटिविटी रेट की बात करें तो 0.79% है जो कि पिछले 50 दिनों से 2 प्रतिशत से नीचे है.

Covid-19: देश में पिछले 24 घंटे में सामने आए 7,579 नए केस, 543 दिनों में सबसे कम मामले

देश में कोरोना के केस लगातार कम हो रहे हैं...

नई दिल्ली:

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना (Covid-19) के 7,579  नए केस सामने आए जो कि पिछले 543 दिनों में सबसे कम मामले हैं. वहीं एक दिन में कोरोना से 236 लोगों की मौत हुई है. वहीं रिकवरी रेट की बात करें तो यह 98.32 प्रतिशत है जो कि मार्च 2020 के बाद सबसे ज्यादा है. भारत में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 1,13,584 है जो कि पिछले 536 दिनों में सबसे कम है. पिछले 24 घंटे में 12,202 लोग कोरोना से ठीक हुए अब तक कुल  3,39,46,749 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं. डेली पोजिटिविटी रेट की बात करें तो 0.79% है जो कि पिछले 50 दिनों से 2 प्रतिशत से नीचे है. वीकली पोजिटिविटी रेट की बात करें तो 0.93% है जो कि पिछले 60 दिनों से 2 प्रतिशत से नीचे है. अब तक 117.63 करोड़ वैक्सीन डोज दी जा चुकी हैं.

महाराष्ट्र में भी अप्रैल 2020 के बाद पहली बार सामने आए इतने कम मामले
बता दें कि महाराष्ट्र में सोमवार को कोविड-19 के 656 नए मामले सामने आने के साथ कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 66,30,531 हो गई जबकि आठ और रोगियों की मौत होने से मृतकों की तादाद 1,40,747 तक पहुंच गई है.  महाराष्ट्र में अप्रैल 2020 के बाद से यह पहली बार है जब एक दिन में सामने आए कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या इतनी कम है. इससे पहले राज्य में 30 अप्रैल 2020 को कोविड-19 के 583 नए मामले सामने आए थे. इसी तरह 17 अप्रैल 2020 के बाद से संक्रमण के कारण मृत्यु के ये सबसे कम मामले हैं. तब सात मरीजों की मौत हुई थी. 


टीकाकरण का विस्तार करने के लिए कार्यस्थलों पर चलाएं अभियान : केन्द्र ने राज्यों को सलाह दी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


केन्द्र ने सोमवार को राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को सलाह दी कि वे कार्यस्थलों पर कोविड-19 टीकाकरण अभियान चला सकते हैं और टीका नहीं लगवाने वाले सहकर्मियों को प्रेरित/प्रोत्साहित करने के लिए अन्य कर्मचारियों को सकारात्मक संदेश वाले बैज बांट सकते हैं. टीका नहीं लगवाने वालों को भी टीका लगाने के तरीके तलाश रहे केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जिलों और गांवों में प्रतिष्ठित और प्रभावशाली लोगों तथा समुदाय के नेताओं की मदद लेकर लोगों को कोविड का टीका लगाने के लिए प्रेरित करने की सलाह दी है. (भाषा)