"कोरोना एक जीव, बाकी लोगों की तरह उसे भी जीने का अधिकार" : उत्तराखंड के पूर्व CM का विवादित बयान

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि कोरोना वायरस एक जीवित जीव है, जिसे जीने का अधिकार है. उनकी इस टिप्पणी पर सोशल मीडिया पर लोग जमकर प्रतिक्रिया दे रहे हैं.   

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मनुष्य को सुरक्षित रहने के लिए वायरस से आगे निकलने की जरूरत. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट की वजह से भारत में हाहाकार मचा हुआ है. इस बीच, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने कोरोना को लेकर अजीबो-गरीब बयान दिया. इस बयान के बाद रावत सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल भी हुए. दरअसल, त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गुरुवार को कहा कि कोरोना वायरस एक जीवित जीव है, जिसे जीने का अधिकार है. 

रावत ने टीवी चैनल से बातचीत में कहा, "दार्शनिक नजरिये से देखा जाए तो, कोरोनावायरस भी एक जीवित जीव है. बाकी लोगों की तरह इसे भी जीने का अधिकार है, लेकिन हम (मनुष्य) खुद को सबसे बुद्धिमान समझते हैं और इसे खत्म करने की तैयारी कर रहे हैं. इसलिए वह (वायरस) लगातार खुद को बदल रहा है."

हालांकि, पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मनुष्य को सुरक्षित रहने के लिए वायरस से आगे निकलने की जरूरत है.

रावत को अपनी इस प्रतिक्रिया के लिए सोशल मीडिया पर ट्रोल होना पड़ा. रावत की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब पूरा देश कोविड-19 की दूसरी लहर से लड़ाई लड़ रहा है. 


ट्विटर पर एक यूजर ने तंज कसते हुए कहा, "इस वायरस जीव को सेंट्रल विस्टा में आश्रय दिया जाना चाहिए." 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: कोविशील्ड के दूसरे डोज के समय में बदलाव की क्या है वजह? देखिए रिपोर्ट