रजनीकांत के फैसले पर बोले चिदंबरम- 'खुशी है कि वो BJP को समर्थन नहीं देना चाहते हैं'

पी चिदंबरम ने NDTV से कहा, 'मैं रजनीकांत जी के लिए खुश हूं. मैं सालों से उनका मित्र रहा हूं, साल 1996 से. मैंने उन्हें पहले भी कहा था कि उन्हें सीधे-सीधे राजनीति में नहीं आना चाहिए. उन्होंने 1996 में मजबूत नैतिक प्रभाव डाला था और वो अब भी 2021 और भविष्य में भी मजबूत नैतिक ताकत बन सकते हैं.'

रजनीकांत के फैसले पर बोले चिदंबरम- 'खुशी है कि वो BJP को समर्थन नहीं देना चाहते हैं'

रजनीकांत ने चुनावी राजनीति में न आने का फैसला किया है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली/हैदराबाद:

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने मंगलवार को रजनीकांत के चुनावी राजनीति (Rajinikanth) में शामिल न होने के फैसले पर खुशी जताते हुए कहा कि 70 साल के सुपरस्टार 'सच्चे हिंदू हैं लेकिन वो एक सेकुलर व्यक्ति हैं और वो बीजेपी को समर्थन नहीं करेंगे.' रजनीकांत ने सोमवार को अपने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए चुनावी राजनीति में शामिल न होने का ऐलान किया. इसके पहले वो 31 दिसंबर को राजनीतिक पार्टी की घोषणा करने वाले थे.

उनके इस फैसले पर तमिलनाडु की कई राजनीतिक पार्टियों की प्रतिक्रिया आई है. तमिलनाडु में कुछ महीनों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और गठबंधन की पार्टियों के बीच तनाव दिखने लगा है.

रजनीकांत ने मंगलवार को एक बयान जारी कर कहा कि वो 'चुनावी राजनीति में शामिल हुए बगैर जनता की सेवा करेंगे'. ऐसे में इस बात पर चर्चा शुरू हो गई है कि वो राजनीति में आए बगैर किस पार्टी को समर्थन देंगे. 

पी चिदंबरम ने NDTV से कहा, 'मैं रजनीकांत जी के लिए खुश हूं. मैं सालों से उनका मित्र रहा हूं, साल 1996 से. मैंने उन्हें पहले भी कहा था कि उन्हें सीधे-सीधे राजनीति में नहीं आना चाहिए. उन्होंने 1996 में मजबूत नैतिक प्रभाव डाला था और वो अब भी 2021 और भविष्य में भी मजबूत नैतिक ताकत बन सकते हैं.'

यह भी पढ़ें : "मुझे नहीं लगता कि शरद पवार यूपीए अध्यक्ष बनना चाहते हैं" : पी चिदंबरम

रजनीकांत की ओर से बीजेपी को समर्थन दिए जाने की संभावना पर चिदंबरम ने कहा कि 'मैं आश्वस्त हूं कि वो अपना समर्थन उन पार्टियों को देंगे, जो बीजेपी का विरोध करेंगी.' उन्होंने कहा, 'वो सच्चे हिंदू हैं, लेकिन सेकुलर हैं. उनके फैंस बड़ी संख्या में दलित, ओबीसी, अल्पसंख्यक समुदाय से आते हैं. वो भारत की निम्नवर्ग की जनता की दुर्दशा को समझते हैं.'

बता दें कि रजनीकांत ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए मंगलवार को घोषणा की थी कि वो चुनावी राजनीति में शामिल हुए बिना ही जनसेवा करेंगे. उन्होंने एक बयान जारी कर कहा कि 'मैं बहुत दुख के साथ कह रहा हूं कि मैं राजनीति में नहीं आ सकता. मुझे ही पता है कि यह घोषणा मैं कितने दुखी मन से कर रहा हूं. मेरे इस फैसले से मेरे फैंस और लोगों को निराशा होगी, लेकिन कृपया मुझे माफ कर दें.'


Video: पॉलिटिकल एंट्री पर रजनीकांत का यू-टर्न, कहा- राजनीति में आए बिना जनसेवा करेंगे

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com