ऑनलाइन क्लास के लिए स्मार्टफोन न मिलने पर 10वीं कक्षा के छात्र ने कथित तौर पर की आत्महत्या

तमिलनाडु के कुड्डलोर जिले में 10वीं कक्षा के एक छात्र ने बुधवार रात आत्महत्या कर ली. दरअसल छात्र के पिता छात्र को स्कूल द्वारा ली जा रही ऑनलाइन कक्षाओं के स्मार्टफोन खरीद के नहीं दे सके थे.

ऑनलाइन क्लास के लिए स्मार्टफोन न मिलने पर 10वीं कक्षा के छात्र ने कथित तौर पर की आत्महत्या

प्रतीकात्मक तस्वीर

चेन्नई:

तमिलनाडु के कुड्डलोर जिले में 10वीं कक्षा के एक छात्र ने बुधवार रात आत्महत्या कर ली. दरअसल छात्र के पिता छात्र को स्कूल द्वारा ली जा रही ऑनलाइन कक्षाओं के स्मार्टफोन खरीद के नहीं दे सके थे. अधिकारियों का कहना है कि 14 साल के लड़के ने, जो पन्रुति शहर के पास वल्ललर हाई स्कूल में पढ़ता है, ने बुधवार रात अपने घर पर आत्महत्या कर ली.

अपनी शिकायत में लड़के के पिता, विजयकुमार, जो सिरुथोंदमादेवी गांव में काजू की खेती करते हैं , ने कहा: "10 वीं कक्षा में जाने पर, मेरे बेटे ने ऑनलाइन क्लास के लिए एक मोबाइल फोन मांगा. मैंने उससे कहा था कि मैं उसे बाद में दूंगा. पहले मुझे अपने काजू के लिए पैसे तो मिले, लेकिन वह नाराज़ हो गया. ”

25 मार्च से लागू कोरोनावायरस लॉकडाउन के चलते कई लोगों के आय के साधन खत्म हो गए हैं, वेतन में कटौती हुई है और यहां तक ​​कि नौकरी भी चली गई है. लॉकडाउन से कई गरीब परिवारों को नुकसान उठाना पड़ा है. तमिलनाडु सरकार सिर्फ मुफ्त राशन और हर महीने 1,000 रुपये दे रही है जो कि ऊंट के मुंह में जीरा साबित हो रहा है. खासकर शहरों में रहने वालों के लिए.

इन कठिनाइयों के अलावा, ऑनलाइन कक्षाओं के लिए गरीब परिवारों के छात्रों के पास इंटरनेट और स्मार्टफोन जैसे उपकरणों तक सीमित पहुंच है. राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में, जिन छात्रों के पास यह सुविधा है भी तो वहां कनेक्टिविटी की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.ऐसे में छात्रों पर इस कठिन समय में अधिक दबाव बन रहा है.

लॉकडाउन के बाद से सिर्फ आधी तनख्वाह में गरीब परिवारों के लिए स्मार्टफोन और इंटरनेट पैकेज खरीदना अकल्पनीय है.  तमिलनाडु सरकार ने हाल ही में अपने कालवी टीवी नेटवर्क के माध्यम से सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों तक पहुंचने के लिए ऑनलाइन कक्षाएं शुरू की हैं. हालांकि, निजी स्कूल में पढ़ने वाले गरीब परिवारों के बच्चों ने ऑनलाइन कक्षाओं का विकल्प चुना है.


हालांकि राज्य सरकार ने ऑनलाइन कक्षाओं के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं, लेकिन मद्रास हाइकोर्ट के हस्तक्षेप के बाद  इस मुद्दे पर फौरन ध्यान देने की जरूरत को समझा जा रहा है. इस बीच, लड़के की आत्महत्या के दुखद मामले में, कुड्डालोर पुलिस ने संदिग्ध मौत का मामला दर्ज किया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



(आत्‍महत्‍या किसी समस्‍या का समाधान नहीं है. अगर आपको सहारे की जरूरत है या आप किसी ऐसे शख्‍स को जानते हैं जिसे मदद की दरकार है तो कृपया अपने नजदीकी मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ के पास जाएं.) हेल्‍पलाइन नंबर: AASRA: 91-22-27546669 (24 घंटे उपलब्ध) स्‍नेहा फाउंडेशन: 91-44-24640050 (24 घंटे उपलब्ध) वंद्रेवाला फाउंडेशन फॉर मेंटल हेल्‍थ: 1860-2662-345 और 1800-2333-330 (24 घंटे उपलब्ध) iCall: 022-25521111 (सोमवार से शनिवार तक उपलब्‍ध: सुबह 8:00 बजे से रात 10:00 बजे तक) एनजीओ: 18002094353 दोपहर 12 बजे से रात 8 बजे तक उपलब्‍ध)