पैंगॉन्ग में 'बड़ी संख्या' में आए थे चीनी सैनिक, लेकिन भारतीय सेना पहले से तैयार थी : सूत्र

सूत्रों का कहना है कि चीनी सैनिक 'बड़ी संख्या' में थे. लेकिन भारतीय सेना को इसकी जानकारी थी और उन्होंने खुद को चीनी सेना की गतिविधि को रोकने के लिए जरूरी कदम उठा लिए.

पैंगॉन्ग में 'बड़ी संख्या' में आए थे चीनी सैनिक, लेकिन भारतीय सेना पहले से तैयार थी : सूत्र

पैगॉन्ग झील इलाके में चीनी सेना की घुसपैठ की कोशिश, भारत ने किया नाकाम. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • पैंगॉन्ग झील में चीन की घुसपैठ की कोशिश
  • भारतीय सेना ने किया नाकाम
  • चीन ने फिर से तोड़ा समझौता
नई दिल्ली:

पूर्वी लद्दाख में एक बार फिर भारतीय और चीनी सेना के बीच झड़प (clash with chinese troops) की खबर आई है. सूत्रों के हवाले से जानकारी आई है कि पैंगौन्ग झील के दक्षिणी किनारे (Pangong Lake) पर रातभर में चीनी सेना की ओर से आक्रामक सैन्य गतिविधि करते हुए यथास्थिति में बदलाव करने की कोशिश की गई है. सूत्रों ने बताया है कि इलाके में सड़कें न होने पर चीनी सेना के जवान जो बड़ी संख्या में पैंगॉन्ग झील के दक्षिणी किनारे पर मौजूद थे, पैदल ही चलकर पश्चिम की ओर बढ़ रहे थे. माना जा रहा है कि उनका लक्ष्य इलाके पर कब्जा करना था.

सूत्रों का कहना है कि चीनी सैनिक 'बड़ी संख्या' में थे. लेकिन भारतीय सेना को इसकी जानकारी थी और उन्होंने खुद को चीनी सेना की गतिविधि को रोकने के लिए जरूरी कदम उठा लिए. सूत्रों का कहना है कि दोनों पक्षों में किसी तरह की कोई शारीरिक झड़प नहीं हुई है, वहीं फेस-ऑफ जैसे हालात भी नहीं हैं यानी दोनों सेनाएं आमने-सामने नहीं खड़ी हैं.

सूत्रों का कहना है कि भारतीय सेना बड़ी संख्या में इस इलाके में जमी हुई है और प्रतिक्रिया देने को तैयार है. इसकी जानकारी भी है कि चीनी सेना की भी कुछ मौजूदगी इलाके में बनी हुई है.

बता दें कि सोमवार की सुबह रक्षा मंत्रालय की ओर से एक बयान जारी कर कहा गया था कि 'चीनी सेना ने यथास्थिति को बदलने के लिए सैन्य गतिविधियां कीं' लेकिन भारतीय सेना को उनकी इस गतिविधि का अंदाजा लग गया और उन्होंने इसे नाकाम कर दिया.' रक्षा मंत्रालय के इस बयान में बताया गया है कि चीनी सेना की ओर से 29 और 30 अगस्त की दरम्यानी रात में ये कोशिश की गई थी.

बता दें चीनी सेना ने पहली बार इस इलाके में घुसपैठ की है. उसकी तरफ से ऐसी हरकत भी तब आई है, जब अप्रैल-मई से चल रहे सीमा विवाद को सुलझाने के लिए सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर बातचीत चल रही है. पांच दौर की बातचीत के बाद भी मामला पूरी तरह सुलझा नहीं है और अब सैन्य स्तर पर किए गए समझौतों का उल्लंघन करते हुए चीनी सेना की तरफ से ऐसी आक्रामक गतिविधि की गई है. बातचीत को एक बार तब और बड़ा झटका लगा था, जब 15 जून की रात को गलवान घाटी में दोनों सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई थी और इसमें 20 भारतीय जवानों ने अपनी जान गंवा दी थी. 

Video: पूर्वी लद्दाख में भारतीय सेना ने नाकाम की PLA की साजिश


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com