चीन ने कहा, तालिबान के साथ "दोस्ताना रिश्ते" के लिए तैयार : AFP

चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा, "स्वतंत्र रूप से अपने भाग्य का निर्धारण करने के अफगान के लोगों के अधिकार का चीन सम्मान करता है और अफगानिस्तान के साथ मैत्रीपूर्ण और सहयोगात्मक संबंध विकसित करना जारी रखना चाहता है."

चीन ने कहा, तालिबान के साथ

तालिबान से दोस्ताना रिश्ते कायम करने का इच्छुक चीन : विदेश मंत्रालय (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

तालिबान (Taliban) ने काबुल पर कब्जा करने के बाद अफगानिस्तान (Afghanistan) का कंट्रोल अपने हाथ में ले लिया है. इस बीच, चीन (China) ने कहा कि वह तालिबान से "दोस्ताना रिश्ते" कायम करने के लिए तैयार है. चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने संवाददाताओं से कहा, "स्वतंत्र रूप से अपने भाग्य का निर्धारण करने के अफगान के लोगों के अधिकार का चीन सम्मान करता है और अफगानिस्तान के साथ मैत्रीपूर्ण और सहयोगात्मक संबंध विकसित करना जारी रखना चाहता है."

वहीं, अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के एयरपोर्ट पर जुटी हजारों की भीड़ के बीच मची भगदड़ ने कम से कम 5 लोगों की जान ले ली है. एक न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक,  हजारों लोगों का हुजूम तालिबान (Taliban) के खौफ से बचने के लिए देश से बाहर जाने की कवायद में जुटा था. एक वक्त तो हालात को काबू में करने के लिए अमेरिकी सैनिकों को हवा में फायरिंग भी करनी पड़ी थी. 


तालिबान ने रविवार को काबुल पर कब्जा जमा लिया था और उसके बाद से ही देश के तमाम सीमावर्ती इलाकों से लोग देश से बाहर भागने की फिराक में हैं. काबुल एयरपोर्ट अभी अमेरिकी सेना के नियंत्रण में हैं. काबुल एयरस्पेस को बंद कर दिया गया है और विमानों की आवाजाही को फिलहाल रोक दिया गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


 कहा जा रहा है कि कट्टरपंथी इस्लामिक समूह तालिबान का नेता मुल्ला अब्दुल गनी बरादर अफगानिस्तान का नया राष्ट्रपति बन सकता है. समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, मुल्ला बरादर ने एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है, जिसमें अफगानिस्तान पर बेहद कम वक्त में तालिबान का नियंत्रण स्थापित होने को लेकर खुशी का इजहार किया गया है.