Chhattisgarh: टीएस सिंह देव बोले- काम भी करेंगे, आलाकमान के निर्णय का इंतजार भी करेंगे

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की कुर्सी पर राज्य में मंत्री टीएस सिंह देव ने दावा किया था. उनके मुताबिक कांग्रेस छत्तीसगढ़ में जब सत्ता में आई थी तब यह तय हुआ था कि रोटेशन व्यवस्था के तहत ढाई साल बाद उन्हें मुख्यमंत्री बनाया जाएगा.

Chhattisgarh: टीएस सिंह देव बोले- काम भी करेंगे, आलाकमान के निर्णय का इंतजार भी करेंगे

छत्तीसगढ़ में सत्ता को लेकर हुए संघर्ष पर टीएस सिंह देव ने कहा हम आलाकमान के निर्णय का इंतजार करेंगे. (फाइल फोटो)

रायपुर:

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) और मंत्री टीएस सिंह देव (TS Dev Singh) के बीच सत्ता का टकराव कल शुक्रवार को सुर्खियों में छाया हुआ था. दोनों नेताओं के बीच सीएम पद के लिए हुई तनातनी में कांग्रेस आलाकमान को समझौता कराना पड़ा था. आज शनिवार को छत्तीसगढ़ सरकार के मंत्री टीएस सिंह देव रायपुर पहुंचे. उन्होंने कहा कि 28 दिन दिल्ली में रहा, आना-जाना लगा रहा, राहुल गांधी से 2 बार मुलाक़ात हुई. 

हरियाणा में किसानों ने किया हाईवे जाम, पुलिस की "बर्बर" कार्रवाई के खिलाफ दिखा आक्रोश

उन्होंने कहा कि आलाकमान की राय हमने जानी-समझी, निर्णय उनके पास सुरक्षित है. विधायकों के दिल्ली पहुंचने पर उन्होंने कहा कि विधायकों में भी कौतुहल होगा कि दिल्ली के हवा पानी को देखा जाए. सिंह ने कहा कि विभाग की समीक्षा बैठक लूंगा, तीसरी लहर की संभावना भी कम है. मामले को सीमित करने की तैयारी को लेकर बैठक की जाएगी. अंत में उन्होंने कहा कि काम भी करेंगे, आलाकमान के निर्णय का इंतज़ार भी करेंगे. अगर कोई चीज स्थायी है, तो वो परिवर्तन है. 


मैसूरः  गैंगरेप पर आक्रोश के बीच लड़कियों के आने-जाने पर विश्वविद्यालय ने जारी किया आदेश

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के दिग्गज नेताओं के बीच सत्ता का संघर्ष काफी दिनों से चल रहा था. कल शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दिल्ली में राहुल गांधी से मुलाकात की. सीएम बघेल की राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के साथ तीन घंटे तक बैठक चली. बैठक के बाद उन्होंने कहा कि उनके प्रतिद्वंदी द्वारा सुझाया गया कोई "रोटेशन फॉर्मूला" नहीं था. बघेल ने यह भी कहा कि उन्हें छत्तीसगढ़ में सभी 70 कांग्रेस विधायकों का समर्थन प्राप्त है और उन्होंने राहुल गांधी को राज्य में खुद आने और स्थिति देखने के लिए आमंत्रित किया था.