'Bulli Bai' ऐप के निर्माता ने पुलिस से कहा, 'कोई पछतावा नहीं,सही किया' : सूत्र

21 साल का बिश्‍नोई भोपाल के एक संस्‍थान से बी टेक सेकंड ईयर का स्‍टूडेंट है, उसे दिल्‍ली पुलिस ने असम के जोरहाट जिले से गुरुवार को गिरफ्तार‍ किया.

'Bulli Bai' ऐप के निर्माता ने पुलिस से कहा, 'कोई पछतावा नहीं,सही किया'  : सूत्र

नीरज बिश्‍नोई को दिल्‍ली पुलिस ने असम के जोरहाट जिले से गुरुवार को गिरफ्तार‍ किया

नई दिल्‍ली :

दक्षिणपंथी चरमपंथियों द्वारा मुस्लिम महिलाओं की 'नीलामी' के लिए  इस्‍तेमाल कए गए  'Bulli Bai' APP के मुख्‍य आरोपी नीरज बिश्‍नोई ने पुलिस पूछताछ के दौरान अपनी 'करतूत' के लिए कोई पछतावा नहीं दिखाया. सूत्रों ने शु्क्रवार को यह जानकारी दी. सूत्रों ने NDTV को बताया कि इसके बजाय, उसने दावा किया कि उसने वही किया जो उसे ठीक लगा.  21 साल का बिश्‍नोई भोपाल के एक संस्‍थान से बी टेक सेकंड ईयर का स्‍टूडेंट है, उसे दिल्‍ली पुलिस ने असम के जोरहाट जिले से गुरुवार को गिरफ्तार‍ किया. अधिकारियों ने NDTV को बताया कि उन्‍होंने APP बनाने के लिए इस्‍तेमाल होने वाले डिवाइस को बरामद किया है जिसे माइक्रोसॉफ्ट के शेयरिंग सॉफ्टवेयर GitHub पर 'होस्‍ट' किया गया था. नीरज को उसी दिन कोर्ट में पेश किया गया जहां उसे सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया.

Bulli Bai App केस : बेंगलुरु के छात्र के बाद उत्तराखंड से महिला की गिरफ्तारी की गई

सूत्रों ने बताया कि असम के निवासी बिश्‍नोई को उसके द्वारा बनाए गए ट्वटिर हैंडल - @bullibai_ - के डिजिटल सर्विलांस के जरिये 'ट्रैक' किया गया, इस ट्वटिर  हैंडल को अब सस्‍पेंड कर दिया है. APP को अब डिलीट कर दिया गया है, शुरुआत में  GitHub ने इसे केवल ब्‍लॉक किया था. सूत्रों के मुताबिक, पूछताछ में यह भी खुलासा हुआ है कि इस APP को नवंबर में डेवलप किया गया था और इसे 31 दिसंबर को सार्वजनिक (public) किया गया. इसी समय एक और ट्विटर हैंडल @sage0x1 इस Word को फैलाने के लिए तैयार किया गया था. बिश्‍नोई ने कथित तौर पर @giyu44 हैंडल भी तैयार किया था जिसका इस्‍तेमाल वह मुंबई पुलिस का मजाक उड़ाने के लिए करता था. जब इन्‍होंने तीन पूर्व गिरफ्तारियों की घोषणा की तो उसने इसका "slumbai police" के तौर पर उल्‍लेख किया. इस हैंडल, जो एक्टिव रहता है, में कई अपमानजनक प्रकृति के और पिन किए गए ट्वीट हैं.

Bulli Bai केस : 2 छात्र और 19 साल की लड़की समेत 3 अरेस्ट, मुख्य आरोपी श्वेता सिंह थी कंट्रोलरों में शामिल

ट्वीट में कहा गया है, 'आपने गलत व्‍यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है slumbai police...मैं #BulliBaiApp का निर्माता (creator) हूं...जिन दो लोगों को आपने अरेस्‍ट किया, उनका इससे कोई लेना-देना नहीं, इन्‍हें जल्‍द से जल्‍द रिहा करें.  ' यह ट्वीट 19 साल की श्‍वेता सिंह की गिरफ्तारी के एक दिन बाद बुधवार को सुबह 10.42 बजे पोस्‍ट किया गया. बिश्‍नोई 'Bulli Bai' app से संबंध मामले में गिरफ्तार किए जाने वाला चौथा शख्‍स है इससे पहले, 21 साल के मयंक रावल, श्‍वेता सिंह और विशाल कुमार झा को अरेस्‍ट किया गया था. 

सुप्रीम कोर्ट ने NEET-PG की काउंसलिंग शुरू करने की दी इजाजत, OBC को 27 और EWS को 10% आरक्षण

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com