Budget 2021: LIC का आएगा IPO, दो बैंकों और एक बीमा कंपनी में होगा विनिवेश

बजट 2021: सरकार इस वित्तवर्ष में विनिवेश की प्रक्रिया तेज करने वाली है. विनिवेश के क्षेत्र में बड़ी घोषणा के तहत वित्तमंत्री ने 2021-22 में इंश्योरेंस कंपनी LIC का आईपीओ यानी इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग लाने की घोषणा की है. 

Budget 2021: LIC का आएगा IPO, दो बैंकों और एक बीमा कंपनी में होगा विनिवेश

बजट 2021 के तहत वित्तमंत्री ने LIC का IPO लाने की घोषणा की.

नई दिल्ली:

Budget Announcements 2021 : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को बजट पेश किया और विनिवेश के क्षेत्र में बड़ी घोषणाएं की हैं. एक बड़ी अहम घोषणा यह रही कि सरकार ने 2021-22 में इंश्योरेंस कंपनी LIC का आईपीओ यानी इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग लाने की घोषणा की है. 

वित्त मंत्री ने बताया कि सरकार वित्त वर्ष 2022 में विनिवेश प्रक्रिया तेज करने वाली है. विनिवेश से करीब 1.75 लाख करोड़ रुपये हासिल करने का लक्ष्य रखा गया है. उन्होंने बताया कि बीपीसीएल, एय़र इंडिया, आईडीबीआई बैंक, भारत अर्थ मूवर्स लिमिटेड, इस्पात निगम जैसे तमाम सार्वजनिक उपक्रमों में विनिवेश प्रक्रिया पूरी कर ली गई है.

सरकार रणनीतिक और गैर रणनीतिक पीएसयू की पहचान तेज कर चुकी है. चार छोड़कर बाकी क्षेत्रों के सार्वजनिक उपक्रमों के विनिवेश की प्रक्रिया तेज की जाएगी. राज्यों के सार्वजनिक उपक्रमों के विनिवेश के लिए भी प्रोत्साहन दिया जाएगा. वित्त वर्ष में दो बैंकों में इस साल विनिवेश किया जाएगा. एक जनरल इंश्योरेंस कंपनी में विनिवेश किया जाएगा. वित्त वर्ष में विनिवेश से सरकार ने 1.75 लाख करोड़ रुपये हासिल करने का लक्ष्य रखा है.

यह भी पढ़ें : बजट से 'नौकरीपेशा वालों को मायूसी', इनकम टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं

सीतारमण ने बताया कि नीति आयोग को रणनीतिक विनिवेश के लिए केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र कंपनियों की अगली सूची पर काम करने को कहा गया है. उन्होंने कहा कि केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों के स्वामित्व वाली जमीनों के मौद्रिकरण (बिक्री/पट्टेदारी) के लिए एक विशेष इकाई (एसपीवी) बनाई जाएगी. वित्त मंत्री सीतारमण ने अपने पिछले 2020-21 के बजट में निजीकरण और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों में अल्पांश हिस्सेदारी की बिक्री से 2.1 लाख्र करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा था.


बता दें कि सरकार अभी तक चालू वित्त वर्ष में केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों में अल्पांश हिस्सेदारी की बिक्री और शेयर पुनर्खरीद से 19,499 करोड़ रुपये जुटा पाई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(भाषा से इनपुट के साथ)