कोरोना की वजह से हो रही आलोचना पर BJP का प्लान, 'सेवा ही संगठन' अभियान 2.0 की जल्द शुरूआत

भारतीय जनता पार्टी (BJP) 'सेवा ही संगठन' अभियान का दूसरा चरण शुरु करेगी. यह अभियान देशभर में शुरु किया जाएगा.

कोरोना की वजह से हो रही आलोचना पर BJP का प्लान, 'सेवा ही संगठन' अभियान 2.0 की जल्द शुरूआत

बीजेपी अभियान का दूसरा चरण शुरू करने जा रही है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • बीजेपी का 'सेवा ही संगठन' अभियान
  • जल्द शुरू होगा अभियान का दूसरा चरण
  • जेपी नड्डा ने कार्यकर्ताओं को दिए निर्देश
नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (BJP) कोरोना टीकाकरण अभियान को बढ़ावा देने, जागरूकता और इस बीमारी से जूझ रहे लोगों की मदद के लिए 'सेवा ही संगठन' अभियान का दूसरा चरण शुरु करने जा रही है. यह अभियान देशभर में शुरु किया जाएगा. विपक्ष के हमलों के बीच पिछले महीने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने इसकी शुरूआत की थी. नड्डा ने देशभर के पार्टी कार्यकर्ताओं को इस बारे में निर्देश दिए हैं. इसमें टीकाकरण अभियान, राहत कार्यक्रम और पड़ोस-ग्राम स्वास्थ्य स्वयंसेवक का प्रशिक्षण शामिल है. टीकाकरण अभियान (Covid 19 Vaccination Drive) में 'मेरा बूथ टीकाकरण युक्त' का आह्वान किया गया है. इसके तहत 45 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को टीके की दोनों डोज लगना सुनिश्चित करने को कहा गया है.

इस अभियान के तहत 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में लक्ष्य समूह निर्धारित किए गए, जिन्हें टीके के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा. इनमें डिलीवरी बॉय, ऑटो रिक्शा चालक, घरेलू सहायक, समाचार पत्र वितरक, गैस सिलेंडर वितरक, 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के माता-पिता, 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने को कहा गया है.

धर्मेंद्र प्रधान की कांग्रेस शासित राज्यों को पेट्रोल पर कर घटाने की सलाह, बीजेपी शासित प्रदेशों पर चुप्पी

राहत कार्यक्रम में लोगों को त्योहारों के समय कोविड के अनुरूप व्यवहार करने के लिए प्रेरित करना भी शामिल है. इसके तहत सैनिटाइजर, मास्क आदि का वितरण किया जाएगा. बीजेपी अध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं से रक्तदान शिविर लगाने के लिए कहा है. अस्पतालों में राशन किट और भोजन वितरण की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश हैं. टेली मेडिसिन सेंटर और मेडिकल हेल्प सेंटर की स्थापना करने का निर्देश दिया गया है.

बीजेपी अध्यक्ष ने अपील की है कि वृद्धों के सहायता के लिए स्वयंसेवक आगे आएं. प्रभावित लोगों को बीमा सुविधा जल्द से जल्द मिले, इसका प्रयास किया जाएगा. हेल्थ वॉरियर्स का उचित सम्मान किया जाएगा. स्वास्थ्य स्वयंसेवक के लिए दो लाख शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में एक महिला तथा एक पुरूष कार्यकर्ता को तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है.


जेपी नड्डा ने निर्देश दिए कि प्रदेश, जिला और मंडल स्तर पर तीन सदस्यीय टीम बनाई जाए, जिनमें एक महिला कार्यकर्ता और एक डॉक्टर हो. टीम को थर्मल स्कैनर, ऑक्सीमीटर, टेस्ट किट, ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर आदि सामान संग्रहित करने को कहा गया है. ये स्वयंसेवक आंगनवाड़ी, आशा, एएनएम और पीएचसी के साथ समन्वय करेंगे. साथ ही लोगों में जागरुकता अभियान भी चलाएंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: वैक्सीनेट इंडिया : कौन-कौन लगवा सकता है कोरोना का टीका? जानिए