असम में CAA पर राहुल गांधी के बयान का बीजेपी नेता हिमंता बिस्वा सरमा ने ऐसे दिया जवाब

बीजेपी नेता हेमंत बिस्वा शर्मा ने तंज कसते हुए कहा कि मुझे लगता है कि उनके पास संसद में भारी बहुमत है और वे (नागरिकता संशोधन कानून पर) फैसला कर सकते हैं.

असम में CAA पर राहुल गांधी के बयान का बीजेपी नेता हिमंता बिस्वा सरमा ने ऐसे दिया जवाब

राहुल गांधी के बयान पर हेमंत बिस्वा शर्मा ने प्रतिक्रिया दी. (फाइल फोटो)

गुवाहाटी:

असम के मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता हेमंत बिस्वा शर्मा (Himanta Biswa Sarma) ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के उस बयान पर पलटवार किया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि असम में कांग्रेस की सत्ता आने के बाद यहां संशोधित नागरकिता कानून (CAA) नहीं लागू होने देंगे. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि पार्टी के पास संसद में बहुमत है.  

शनिवार यानी 20 मार्च को समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए बीजेपी नेता हेमंत बिस्वा शर्मा ने तंज कसते हुए कहा कि मुझे लगता है कि उनके पास संसद में भारी बहुमत है और वे (नागरिकता संशोधन कानून पर) फैसला कर सकते हैं. आपको बता दें कि कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) विधान सभा चुनाव को लेकर असम के दो दिवसीय दौरे पर हैं.

'असम को नागपुर से चलाना चाहती है BJP', तिनसुकिया की चुनावी रैली में बरसे राहुल गांधी

शनिवार को प्रदेश के जोरहाट में एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा है कि अगर राज्य में कांग्रेस की सरकार बनी तो सभी परिवारों को 200 यूनिट तक फ्री बिजली देंगे. इसके साथ ही उन्होंने पांच बड़े ऐलान किए. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मरीयानी में एक रैली में कहा, "बीजेपी संस्कृति, भाषा, इतिहास और असम के भाईचारे पर हमला कर रही है, हम नरफरत को मिटाएंगे और शांति लाएंगे."

उन्होंने जिन पांच वादों का ऐलान किया, उसमें पहला राज्य में सीएएस लागू नहीं करने का फैसला है. दूसरे वादे में उन्होंने कहा कि चाय बागान के मजदूरों के न्यूनतम 365 रुपये रोजाना पारिश्रमिक दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि चाहे जो कुछ हो जाय, वो इसे लागू करके रहेंगे. गांधी ने तीसरे वादे के रूप में हर परिवार को 200 यूनिट बिजली फ्री देने का वादा किया. चौथे वादे में उन्होंने कहा कि राज्य की हर महिला को 2000 रुपये प्रति माह देंगे. इसके अलावा राहुल ने राज्य में बेरोजगारी दूर करने के लिए 5 लाख नौकरियों का भी ऐलान किया.

असम में बोले राहुल गांधी, 'लोगों को बांटने के लिए नफरत फैलाती है भाजपा'

एक दिन पहले भी राहुल गांधी ने शुक्रवार को ''पांच गारंटियां'' देते हुए कहा था कि असम में अगर उनकी पार्टी की सरकार बनी तो सीएए लागू नहीं होगा और छह घंटे के अंदर चाय श्रमिकों का दैनिक वेतन बढ़ाकर 365 रुपये कर दिया जाएगा. गांधी ने विधानसभा चुनाव के लिये तैयार असम की अपनी यात्रा के पहले दिन चुनावी रैली में कॉलेज के छात्रों, चाय कामगारों समेत सभी वर्ग के लोगों को आश्वासन दिये.

"असम में संशोधित नागरकिता कानून (सीएए) लागू नहीं होने देंगे" 

उन्होंने कल डिब्रूगढ़ जिले में लाहोवल कॉलेज के छात्रों, चाबुआ में चाय कामगारों और डूमडूमा में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस असम विधानसभा में यह सुनिश्चित करेगी कि संशोधित नागरकिता कानून (सीएए) लागू न किया जाए.गांधी ने कहा, ''राष्ट्रीय स्तर पर सत्ता में आने पर हम अन्य राज्यों में भी इसे लागू होने से रोकेंगे.'' दिसंबर 2019 में यह कानून पारित होने के बाद असम में हिंसक प्रदर्शन हुए थे.

कांग्रेस नेता ने चाबुआ में डिनजॉय चाय बागान में कामगारों से मुखातिब होते हुए कहा, ''हम सत्ता में आने के छह घंटे के अंदर चाय कर्मियों का दैनिक वेतन 167 रुपये से बढ़ाकर 365 रुपये कर देंगे.'' उन्होंने कहा, ''मेरा नाम नरेन्द्र मोदी नहीं है और मैं झूठ नहीं बोलता. कोई क्या बोलता है उसे बोलने दीजिये लेकिन मैं आपको गारंटी देता हूं कि सरकार बनते ही आपको 365 रुपये मिलने लगेंगे."

Video : चुनाव प्रचार के लिए दो दिनों के असम दौरे पर राहुल गांधी


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com