बिहार : महापौर मर्डर केस में परिजनों ने ही पकड़े चार आरोपी, किया पुलिस के हवाले

29 जुलाई की शाम करीब 9 बजे कटिहार नगर निगम के महापौर सह वार्ड संख्या 16 के वार्ड पार्षद शिवराज पासवान की अज्ञात अपराधियों ने नगर थाना क्षेत्र के संतोषी चौक पर गोली मारकर हत्या कर दी थी. घटना के बाद स्थानीय लोगों की मदद से मेयर शिवा पासवान को कटिहार मेडिकल कॉलेज पहुंचाया गया था, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था.

बिहार : महापौर मर्डर केस में परिजनों ने ही पकड़े चार आरोपी, किया पुलिस के हवाले

गिरफ्तार चारों आरोपियों में करण सिंह, कुणाल, बंटी और करण बसफोड़ शामिल है.

कटिहार:

बिहार के कटिहार में आज अहले सुबह मृतक महापौर शिवराज पासवान के परिजनों एवं समाज के लोगों ने मिलकर हत्या में आरोपी करण सिंह, कुणाल, बंटी और करण बसफोड़ को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया. महापौर हत्याकांड में इन चारों की भूमिका प्राथमिक अभियुक्त के रूप में रही है. 29 जुलाई को महापौर शिवराज पासवान की हत्या के बाद उनके भाई छोटू पासवान के बयान पर कटिहार नगर थाना में 12 लोगों को नामजद किया गया है.


FIR में कई अज्ञात लोगों पर भी मामला दर्ज कराया गया था. उन अज्ञात लोगों में ही ये चारों शामिल रहे हैं. 
वारदात को अंजाम देने में किसकी क्या भूमिका थी? ये चारों आरोपी अब इसका खुलासा कर रहे हैं. उधर दिवंगत महापौर के भाई ने समाज के लोगों द्वारा अलग-अलग जगह से इन लोगों को पकड़ कर पुलिस के हवाले करने की पुष्टि की है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि 29 जुलाई की शाम करीब 9 बजे कटिहार नगर निगम के महापौर सह वार्ड संख्या 16 के वार्ड पार्षद शिवराज पासवान की अज्ञात अपराधियों ने नगर थाना क्षेत्र के संतोषी चौक पर गोली मारकर हत्या कर दी थी. घटना के बाद स्थानीय लोगों की मदद से मेयर शिवा पासवान को कटिहार मेडिकल कॉलेज पहुंचाया गया था, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था. शिवराज पासवान उर्फ शिवा पासवान को छाती में तीन गोलियां मारी गई थीं.