रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी पर बोले बिहार के DGP गुप्तेश्वर पांडेय- लोग जितने मासूम दिखते हैं, उतने होते नहीं हैं

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग्स कनेक्शन को लेकर गिरफ्तार हुईं रिया चक्रवर्ती को लेकर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि मामले में धीरे-धीरे लोग एक्सपोज़ हो रहे हैं और सच सामने आ रहा है.

खास बातें

  • रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी पर बिहार डीजीपी का बयान
  • कहा- लोग धीरे-धीरे एक्सपोज़ हो रहे हैं
  • 'लोग जितने मासूम दिखते हैं, उतने होते नहीं हैं'
नई दिल्ली:

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के मामले में ड्रग्स कनेक्शन (drugs connection) को लेकर गिरफ्तार हुईं रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) को लेकर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि मामले में धीरे-धीरे लोग एक्सपोज़ हो रहे हैं और सच धीरे-धीरे सामने आ रहा है. बता दें कि गुप्तेश्वर पांडेय तब चर्चा में आ गए थे, जब उन्होंने रिया चक्रवर्ती को लेकर 'औकात' वाला बयान दिया था.

NDTV से बातचीत में गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि 'उनसे (रिया चक्रवर्ती से) मेरी कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है. रिया चक्रवर्ती जी का ड्रग पेडलर से कनेक्शन निकला है. उनकी गिरफ्तारी हुई है तो किस बात पर हुई है? NCB ने मेहनत की है. ड्रग्स के कनेक्शन उनके साथ मिले हैं. उन्होंने कबूल भी किया है. लोग जितने मासूम दिखते हैं ऊपर से. इमोशनल होकर ट्वीट करते हैं और वीडियो बनाकर सत्यमेव जयते बोलते हैं, उतने मासूम तो होते नहीं है. ये सब भी बॉलीवुड में चलता ही है. हमें इस बात का संतोष है कि लोग धीरे-धीरे एक्सपोज़ हो रहे हैं और सत्य उद्घाटित हो रहा है.'

'अब धीरे-धीरे चीजें सामने आएंगी ही. मैं शुरू से कह रहा हूं कि यह इतना सिंपल मामला है. नाम, दौलत, शोहरत वाला आदमी, इतना खुशमिजाज़ आदमी अचानक फांसी के फंदे से लटक जाता है तो बात पचती नहीं है. जैसे बिहार पुलिस जांच के लिए जाती है और मुंबई पुलिस बहुत मिस्टिरियस तरीके से बिहेव करती है तो यह जनरल परसेप्शन बन जाता है कि कुछ छिपाया जा रहा है.'

यह भी पढ़ें: NCB ने कोर्ट में बताया- सुशांत राजपूत के इस्तेमाल के लिए ड्रग्स मंगवाती थीं रिया चक्रवर्ती


रिया के वकील सतीश मानशिंदे के सुशांत सिंह राजपूत को 'ड्रग एडिक्ट' बताने वाले बयान पर गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि 'सामान्य बुद्धि से कोई भी समझ सकता है कि यह कोई प्रोफेशनल स्टेटमेंट नहीं है, यह अनएथिकल स्टेटमेंट है. वो किस हैसियत से यह बयान दे रहे हैं? वो डॉक्टर हैं? इन्वेस्टिगेशन किया है? वो विद्वान वकील हैं, रिया के वकील हैं, तो और विद्वान होंगे, उनको सादर प्रणाम लेकिन ऐसे बयान देने के बजाय वो प्रोफेशनल तरीके से कोर्ट में लड़ें.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि 'उनकी तरफ से कहा जा रहा है कि दो-तीन एजेंसियां मिलकर एक सीधी-सादी लड़की को परेशान कर रही हैं या फिर उन्हें प्यार करने की सजा मिल रही है, ऐसे बयानों से सहानुभूति बटोरने की कोशिश की जा रही है लेकिन मुझे नहीं लगता कि इससे देशभर में रिया के लिए कोई लहर दौड़ पड़ेगी. '