अयोध्या फैसला: आडवाणी ने कहा- मंदिर निर्माण के लिए रास्ता खुलने से धन्य महसूस कर रहा हूं

बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी का बयान सामने आया है. उन्होंने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि उनका रुख सही साबित हुआ.

अयोध्या फैसला: आडवाणी ने कहा- मंदिर निर्माण के लिए रास्ता खुलने से धन्य महसूस कर रहा हूं

लाल कृष्ण आडवाणी

खास बातें

  • मंदिर निर्माण के लिए रास्ता खुलने से धन्य महसूस कर रहा हूं: आडवाणी
  • उच्चतम न्यायालय के फैसले से मेरी बातों की पुष्टि हुई: आडवाणी
  • यह क्षण मेरी कामना पूर्ण होने का है: आडवाणी
नई दिल्ली:

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुना दिया है. दशकों पुराने तथा पूरे देश को आंदोलित करते रहे केस में ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में विवादित भूमि का कब्ज़ा सरकारी ट्रस्ट को मंदिर बनाने के लिए दे दिया है, तथा उत्तर प्रदेश के इसी पवित्र शहर में एक 'प्रमुख' स्थान पर मस्जिद के लिए भी जमीन आवंटित की जाएगी. इस केस में वादी भगवान रामचंद्र के बालस्वरूप 'रामलला' को 2.77 एकड़ ज़मीन का मालिकाना हक दिया गया है. अब इस मामले में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी (Lal Krishna Advani) का बयान सामने आया है.

विदेश मंत्रालय ने अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की जानकारी विभिन्न देशों को दी 

उन्होंने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि उनका रुख सही साबित हुआ. उन्होंने कहा, 'उच्चतम न्यायालय के फैसले से मेरी बातों की पुष्टि हुई, अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिये मार्ग प्रशस्त होने से बहुत धन्य महसूस कर रहा हूं. यह क्षण मेरी कामना पूर्ण होने का है, ईश्वर ने मुझे विशाल आंदोलन में योगदान देने का अवसर दिया जो भारत के स्वतंत्रता आंदोलन के बाद सबसे बड़ा आंदोलन था.'

आडवाणी ने कहा, 'मैंने हमेशा इस बात पर जोर दिया है कि भारत की संस्कृति और सभ्यता में राम और रामायण का सम्मानित स्थान है. भारत में और विदेश में राम जन्मभूमि एक विशेष और पवित्र स्थान रखती है. उनके विश्वास और भावनाओं का सम्मान किया गया.'

आडवाणी ने कहा, 'मैं कोर्ट के इस फैसले का भी सम्मान करता हूं कि उन्होंने अयोध्या में मस्जिद बनाने के लिए पांच एकड़ जमीन देने का फैसला किया.' उन्होंने कहा, 'आज का निर्णय एक लंबी और विवादास्पद प्रक्रिया की परिणति है, जिसने पिछले कई दशकों में विभिन्न मंचों पर न्यायिक और गैर-न्यायिक दोनों ही भूमिका निभाई.'

अयोध्या पर फैसले के बाद योगी आदित्यनाथ ने रखी अपनी बात, कहा- दुनिया के सबसे पुराने मामले का पटाक्षेप होने पर सबका धन्यवाद


आडवाणी ने कहा, 'अब जब अयोध्या में लंबे समय से चल रहे मंदिर-मस्जिद विवाद का अंत हो गया है, समय आ गया है कि सभी विवाद और तीखेपन को पीछे छोड़ दें और सांप्रदायिक सहमति और शांति को गले लगाएं. इस अंत की ओर, मैं हमारे विविध समाज के सभी वर्गों से भारत की राष्ट्रीय एकता और अखंडता को मजबूत करने के लिए मिलकर काम करने की अपील करता हूं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आडवाणी ने कहा, 'रामजन्मभूमि आंदोलन के समय मैंने अक्सर कहा था कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का असली उद्देश्य एक शानदार राष्ट्र मंदिर का निर्माण करना है. आइए हम आज उस महान मिशन के लिए खुद को समर्पित करें.'