एंटीलिया केस: आज खत्म हो रही है सचिन वाजे की रिमांड, बढ़ सकती हैं प्रदीप शर्मा की मुसीबतें

इंडस्ट्रलिस्ट मुकेश अंबानी के घर के बाहर एक विस्फोटक से लदी SUV मामले सचिन वाजे की रिमांड आज खत्म हो रही है. वहीं पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा की मुसीबत बढ़ती हुई दिखाई दे रही है.

एंटीलिया केस: आज खत्म हो रही है सचिन वाजे की रिमांड, बढ़ सकती हैं प्रदीप शर्मा की मुसीबतें

Antilia Case : आज सचिन वाजे की रिमांड खत्म हो रही है

मुंबई:

इंडस्ट्रलिस्ट मुकेश अंबानी के घर के बाहर एक विस्फोटक से लदी SUV मामले में सचिन वाजे की रिमांड आज खत्म हो रही है. वहीं पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा की मुसीबत बढ़ती हुई दिखाई दे रही है. अब तक लगातार दो दिन उनसे लंबी पूछताछ हो चुकी है और अब भी वो शक के दायरे में हैं. प्रदीप शर्मा को फिर से बुलाया जा सकता है. इस बीच अनिल देशमुख पर लगे वसूली के आरोपों की जांच कर रही CBI अब तक परमबीर सिंह और सचिन वाजे सहित 5 लोगों के बयान दर्ज कर चुकी है. आज बार वालों की तरफ से पैसे पंहुचाने वाले व्यक्ति को बुलाये जाने की संभावना है. 

Read Also: बीजेपी नेता का दावा, 'महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन की उपयुक्‍त स्थिति, दो और मंत्री 15 दिनों में देंगे इस्‍तीफा'

बताते चलें कि महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की अपनी प्रारंभिक जांच के संबंध में CBI ने मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह, सहायक पुलिस आयुक्त संजय पाटिल और निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे से पूछताछ की. बॉम्बे हाईकोर्ट ने CBI को आरोपों की प्रारंभिक जांच करने का आदेश दिया था. 


Read Also: एंटीलिया मामले में शिकंजा कसने के बाद उठे सवाल, आखिर किसके कहने पर काम कर रहा था सचिन वाजे..

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि NIA ने प्रदीप शर्मा से लगातार दूसरे दिन लगातार 9 घंटे लंबी पूछताछ की. गुरुवार को दोपहर एक बजे वह NIA के दफ्तर पहुंचे थे और करीब सवा 10 बजे वहां से निकले. इससे पहले बुधवार को शर्मा से सात घंटे तक पूछताछ की गई थी. प्रदीप शर्मा को मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह का उस समय विश्वस्त अधिकारी माना जाता था जब वह ठाणे पुलिस के प्रमुख थे. वॉलेंटरी रिटायरमेंट लेने से पहले शर्मा ने ठाणे क्राइम ब्रांच के एंटी रिकवरी सेल में काम किया था. शर्मा ने 2019 में पालघर जिले की नाला सोपारा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गए थे.