सचिन वझे पर आरोपों की लिस्ट हो रही लंबी, रिमांड बढ़ाने के लिए आज NIA कोर्ट में करेगी पेश

NIA ने सचिन वझे को 13 मार्च को हिरासत में लिया था. इसके पहले उनसे 12 घंटों तक लगातार पूछताछ की गई थी. फिर स्पेशल कोर्ट ने 25 मार्च को उनकी रिमांड 3 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दी थी.

सचिन वझे पर आरोपों की लिस्ट हो रही लंबी, रिमांड बढ़ाने के लिए आज NIA कोर्ट में करेगी पेश

सचिन वझे की रिमांड बढ़ाने के लिए NIA करेगी स्पेशल कोर्ट में पेश. (फाइल फोटो)

मुंबई:

मुकेश अंबानी बम धमकी केस में आरोपी पुलिस अधिकारी सचिन वझे की आज रिमांड खत्म हो रही है. मामले की जांच कर रही नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (NIA) आज फिर से रिमांड बढ़ाने के लिए वझे को कोर्ट में पेश करेगी. सचिन वाझे का नाम मामले से बुरी तरह लिपटता जा रहा है. मामले में अभी तक कई पहलुओं में वझे का नाम शामिल बताया जा रहा है. 

जब इस मामले में वझे का नाम सामने आया था, तो वो मुंबई की क्राइम इंटेलीजेंस यूनिट के चीफ थे, लेकिन नाम सामने आने के बाद उन्हें होमगार्ड में ट्रांसफर कर दिया गया, हालांकि बाद में उन्हें निलंबित कर दिया गया और NIA ने उन्हें अपनी हिरासत में लिया. NIA ने उन्हें 13 मार्च को हिरासत में लिया था. इसके पहले वझे से 12 घंटों तक लगातार पूछताछ की गई थी. स्पेशल कोर्ट ने 25 मार्च को उनकी रिमांड 3 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दी थी. वझे ने कोर्ट में कहा है कि उन्हें मामले में बलि का बकरा बनाया जा रहा है.

सचिन वझे का नाम और आरोपों की लंबी लिस्ट

NIA इस दौरान वझे से जुड़े हर लिंक की जांच कर रही है. वझे का नाम भी हर मामले के हर पहलु में सामने आ रहा है. मुंबई ATS के सूत्रों ने बताया है कि मनसुख हीरने की हत्या वाले वक्त वझे वहीं मौजूद थे. वझे और हीरेन की एक साथ लोकेशन भी मिली है. इसके अलावा वझे को हीरेन की हत्या के आरोपी पुलिसकर्मी विनायक शिंदे के साथ भी ऑडी कार में देखा गया था. NIA के सूत्रों का यह भी दावा है कि अंबानी के घर के सामने जिलेटिन भरी जो एसयूवी गाड़ी मिली थी, उसे वझे ने अपने ड्राइवर के साथ मिलकर वहां छोड़ी थी, इतना ही नहीं उन्होंने ही जिलेटिन छड़ें भी खरीदी थीं.

यह भी पढ़ें : NIA को मनसुख हिरेन की हत्या के केस में मिले 14 नंबर, 5 नंबरों के आगे लिखा था सचिन वाजे 

एनआईए की गिरफ्त में आने से पहले वाजे पर कंप्यूटर की हाई डिस्क हटाने, मोबाइल को फेंकने और मामले से जुड़े अन्य सबूत और साक्ष्य मिटाने के आरोप हैं. मीठी नदी से डाइवरों की मदद से राउटर, कंप्यूटर कार्टेज और अन्य महत्वपूर्ण साक्ष्य कुछ दिनों पहले इकट्ठा किए गए हैं.

इसके अलावा, अब मामले में एक मिस्ट्री वुमन का लिंक भी निकलकर आया है. इस महिला को एक बड़े पांच सितारा होटल में सचिन वाजे के साथ देखा गया था. NIA ने गुरुवार को मीरा रोड के लक्ष्मी पार्क परिसर में सेवन इलेवन इमारत के एक मकान में तलाशी ली थी और माना जा रहा है कि यह तलाशी इसी महिला को लेकर हुई थी.

यह भी पढ़ें : अंबानी के घर के पास मिले वाहन में रखी विस्फोटक सामग्री सचिन वाजे ने खरीदी थी : रिपोर्ट


CCTV तस्वीरों में दिखी उस महिला के हाथ में कैश काउंटिंग मशीन थी, जो बाद में मर्सिडीज कार से बरामद हुई थी. लेकिन वो महिला कौन है और केस में उसकी क्या भूमिका है, इस पर अभी एजेंसी कुछ भी नहीं बता रही.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वझे पर यह भी आरोप है कि वो एक बड़े फाइव स्टार होटल से वसूली का धंधा चला रहे थे. मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखकर गृहमंत्री अनिल देशमुख पर आरोप लगाया था कि उन्होंने पुलिस अधिकारियों को होटलों, रेस्तराओं और बार-पबों से महीने में 100 करोड़ की वसूली करने का टारगेट दिया था.