जम्मू-कश्मीर में पर्यटन से जुड़े अस्सी प्रतिशत लोगों को लगा टीका, फिल्मवालों को भी दी जा रही रियायत

जम्मू-कश्मीर और लेह लद्दाख हमेशा से शूटिंग के लिए बॉलीवुड की पसंदीदा जगह रहे हैं. हाल के दिनों में राज़ी से लेकर बजरंगी भाईजान तक की शूटिंग कश्मीर घाटी में की गई है.

जम्मू-कश्मीर में पर्यटन से जुड़े अस्सी  प्रतिशत लोगों को लगा टीका, फिल्मवालों को भी दी जा रही रियायत

श्रीनगर:

अगर बर्फ से ढके पहाड़ आपको रोमांचित करते हैं तो जम्मू-कश्मीर आपके लिए अगला हॉलीडे डेस्टिनेशन है. आपको कोरोना वायरस के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि पर्यटन उद्योग से जुड़े 80 प्रतिशत लोगों को केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन द्वारा टीका लगाया गया है. वास्तव में जम्मू और कश्मीर COVID-19 समय के दौरान भी सभी पर्यटकों की सूची में सबसे ऊपर रहा है. अप्रैल के अंत में भारत में दूसरी लहर आने से ठीक पहले एक लाख से अधिक पर्यटकों ने घाटी का दौरा किया.

गृह मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार-पिछले 3 वर्षों में तीन गुना उछाल देखा गया है. नवंबर 2019 से मार्च 2020 के बीच केवल 36728 फुटफॉल दर्ज किया गया था, लेकिन इसमें भारी वृद्धि देखी गई. नवंबर 2020 से अप्रैल 2021 तक 113010 पर्यटकों ने घाटी का दौरा किया. अच्छी खबर यह है कि पर्यटन से जुड़े अस्सी प्रतिशत लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है.

केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने एनडीटीवी को बताया कि पर्यटन क्षेत्र को प्राथमिकता वाले क्षेत्र के रूप में पहचाना गया है, क्योंकि हम इसके माध्यम से बहुत अधिक राजस्व उत्पन्न करते हैं, इसलिए हमने टीकाकरण के लिए पर्यटन क्षेत्र को प्राथमिकता दी है. साथ ही फिल्मवालों को जम्मू-कश्मीर में शूटिंग के लिए रियायत दी जाएगी.


पर्यटन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी बताते हैं कि केंद्र शासित प्रदेश की प्राकृतिक सुंदरता को बढ़ावा देते हुए नीति में स्थानीय प्रतिभाओं को राष्ट्रीय स्तर पर खुद को साबित करने के लिए एक मंच प्रदान करने की कोशिश की जा रही है. उनके मुताबिक-  नई फिल्म नीति से डांसरों सहित स्थानीय कलाकारों को लाभ होगा. फैशन डिजाइनर, अभिनेता, कोरियोग्राफर, सिनेमैटोग्राफर, साउंड रिकॉर्डिस्ट, सेट डिजाइनर, और अन्य लोगों को भी नए रोज़गार के अवसर मिलेंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जम्मू-कश्मीर और लेह लद्दाख हमेशा से शूटिंग के लिए बॉलीवुड की पसंदीदा जगह रहे हैं. हाल के दिनों में राज़ी से लेकर बजरंगी भाईजान तक की शूटिंग कश्मीर घाटी में की गई है. इस बीच 2021 में गृह मंत्रालय  के आंकड़ों के अनुसार- केंद्र शासित प्रदेश में प्रशासन और केंद्र द्वारा पर्यटन को बढ़ावा दिया जा रहा है. जम्मू-कश्मीर में कई त्योहारों का आयोजन किया गया है, जिससे अर्थव्यवस्था में सुस्ती को बढ़ावा मिला है. यही नहीं जम्मू-कश्मीर ने इस सालल फरवरी में गुलमर्ग में कई खेलों की मेजबानी की. इन खेलों में 27 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के एथलीटों ने भाग लिया. बादामवारी में वसंत उत्सव हो या ट्यूलिव उत्सव. हर महीने जम्मू-कश्मीर आने वाले पर्यटकों की संख्या लगातार बढ़ रही  है.