राजस्थान के विधायक का आरोप, 'जेएनयू में रोज मिलते हैं 3 हजार बीयर कैन, इतने ही कंडोम'

राजस्थान के विधायक का आरोप, 'जेएनयू में रोज मिलते हैं 3 हजार बीयर कैन, इतने ही कंडोम'

ज्ञानदेव आहूजा का आरोप है कि जेएनयू देशविरोधी गतिविधियों का केंद्र बन गई है।

अलवर:

राजस्थान के एक बीजेपी विधायक जवाहर लाल यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्रों की किराने की सूची (ग्रासरीलिस्ट) का जिक्र करके उपहास का पात्र बन गए हैं। यूनिवर्सिटी परिसर में एक कार्यक्रम के आयोजन को लेकर जेएनयू के छात्रों और केंद्र सरकार के बीच इस समय टकराव की  स्थिति है। विधायक ज्ञानदेव आहूजा के अनुसार, उन्‍होंने जेएनयू के छात्रों की सामान की यह सूची सोशल मीडिया और टीवी चैनलों के जरिये हासिल की है।


पेश की सामान की अजीबोगरीब सूची
जेएनयू के 'देशद्रोहियों' के खिलाफ दिल्ली से करीब 150 किमी दूर अलवर में एक प्रदर्शन को संबोधित करते हुए आहूजा ने कहा, 'जेएनयू में रोजाना 3000 बीयर की बोतलें, 2000 शराब की बोतलें, 10 हजार सिगरेट के टुकड़े, 4 हजार  बीड़ी, 50 हजार हड्डियों के टुकड़े, 2 हजार चिप्स के पैकेट, 3 हजार उपयोग किए गए कंडोम और 500 गर्भपात के इंजेक्शन मिलते हैं।' 63 वर्षीय आहूजा ने कहा कि कंडोम हमारी बहनों और बेटियों के साथ 'गलत काम' के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं। गौरतलब है कि आहूजा ने अपने बायोडेटा में 12वीं कक्षा तक की शिक्षा हासिल करने की बात कही है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


परिसर में ड्रग्‍स लिए जाने का लगाया आरोप
आहूजा यही नहीं रुके। उन्होंने कहा, 'जेएनयू परिसर में ड्रग्स ली जाती है। रात आठ बजे के बाद ऐसे सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होते है जिसमें लड़के और लड़कियां निर्वस्त्र हो जाते हैं।' आहूजा की पहचान एक रंगमंच कलाकार के रूप में भी है। हर वर्ष होने वाली रामलीला में वे रावण का किरदार अदा करते हैं। अपने इस बयान से आहूजा यह साबित करना चाहते हैं कि जेएनयू में बड़े पैमाने पर देशविरोधी गतिविधियां चलती हैं। उन्‍होंने कहा, 'जब हम दुर्गा अष्टमी मनाते हैं तब वे महिषासुर जयंती मनाते हैं।'