15 घंटे का नवजात कोरोना पॉजिटिव और मां की कोविड रिपोर्ट आई निगेटिव, डॉक्टर हैरान 

पालघर जिले के आरोग्य अधिकारी दयानन्द सूर्यवंशी ने बताया कि नवजात शिशु में कोरोना लक्षण दिखाई पड़ने पर एंटीजेन टेस्ट किया गया जिसका परिणाम पॉजिटिव आया है.हैरानी की बात है कि नवजात की मां का आरटीपीसीआर टेस्ट कराया गया तो रिपोर्ट निगेटिव आई.

15 घंटे का नवजात कोरोना पॉजिटिव और मां की कोविड रिपोर्ट आई निगेटिव, डॉक्टर हैरान 

Maharashtra के Palghar के एक निजी अस्पताल में सामने आई ये घटना

मुंबई:

गर्भवती महिलाओं के कोरोना पॉजिटिव होने पर उनके बच्चे को जन्म से कोविड संक्रमण होने के तो कई मामले भारत और दुनिया भर में सामने आए हैं, लेकिन महाराष्ट्र में एक ऐसा केस सामने आया है, जिसमें 15 घंटे पहले जन्मे नवजात बच्चा तो कोरोना पॉजिटिव पाया गया, लेकिन उसकी मां की कोविड रिपोर्ट निगेटिव आई. डॉक्टर भी हैरान हैं कि ऐसा कैसे हो सकता है कि गर्भवती महिला को कोरोना संक्रमण न होने के बावजूद उसके बच्चे को कोविड ने जकड़ लिया हो. 

हैदराबाद : 1 किलोग्राम वजन के साथ पैदा हुई बच्ची ने दी कोरोना को मात

मां की आरटीपीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आने पर जांच की जा रही है. यह मामला पालघर का है, जहां के एक निजी अस्पताल में 15 घंटे का नवजात कोरोना पॉज़िटिव पाया गया है. पालघर जिले के आरोग्य अधिकारी दयानन्द सूर्यवंशी ने बताया कि नवजात शिशु में कोरोना लक्षण दिखाई पड़ने पर एंटीजेन टेस्ट किया गया जिसका परिणाम पॉजिटिव आया है.

प्रेग्नेंट Dia Mirza ने कोरोना की वैक्सीन को लेकर किया ट्वीट, बोलीं- गर्भवती महिलाओं पर अब तक..

हैरानी की बात है कि नवजात की मां का आरटीपीसीआर टेस्ट कराया गया तो रिपोर्ट निगेटिव आई. सूर्यवंशी के मुताबिक बच्चे की हालत स्थिर है, इलाज के लिए उसे जव्हार अस्पताल में भर्ती किया गया है. ये पूछने पर जब मां की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है फिर बच्चे की पॉजिटिव कैसे ? अधिकारी का कहना है कि इस बात की जांच की जा रही है और इसके लिए अस्पताल के स्टाफ का कोरोना टेस्ट किया जा रहा है. दरअसल, ऐसा हो सकता है कि बच्चा जन्म लेने के बाद किसी संक्रमित व्यक्ति या ऐसे वातावरण के संपर्क में आय़ा हो.

महाराष्ट्र में सोमवार को कोरोना के 15,077 केस सामने आए थे, जो तीन माह में सबसे कम कोविड केस हैं. राज्य में कोरोना के कुल 57.4 लाख तक पहुंच गए थे. इस हफ्ते के पहले ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) साफ कह चुके हैं कि कोरोना के नियमों में ढील देना अभी जल्दबाजी है, अभी पूरी तरह सतर्कता बनाए रखनी है. कोरोना की तीसरी लहर के लिए महाराष्ट्र को तैयार रहना होगा. मुंबई में बहरहाल चरणबद्ध तरीके से कोरोना के मानकों में ढील देने की तैयारी हो रही है.


"बोहनी हो गई" : मुंबई में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने से दुकानदारों और ग्राहकों को राहत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com